• ब्यूरो

5 जी नेटवर्क का प्रशिक्षण शुरू ही नही हुआ, कोरोना से जोड़ना गलत



लखनऊ। दूरसंचार उद्योग संगठन सीओएआई ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म से कोविड-19 के प्रसार को 5जी तकनीक से जोड़ने वाले भ्रामक संदेशों को हटाने की मांग की है।


सीओएआई ने सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय को भेजे पत्र में संगठन के महानिदेशक एसपी कोचर ने कहा कि अभी देश में 5जी नेटवर्क स्थापित नहीं हुए हैं और न ही परीक्षण शुरू है। ऐसे में इसे कोरोना से जोड़ना गलत है।


लोग मोबाइल टावरों को गिराना चाहते हैं


अफवाह से अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों में लोग मोबाइल टावरों को गिराना चाहते हैं। मुख्य रूप से हरियाणा, यूपी, बिहार और पंजाब में गलत सूचनाओं में अधिक वृद्धि हुई है। उन्होंने आशंका जताई कि समय रहते गलत दावों को सोशल मीडिया से हटाया या रोक नहीं लगाई गई तो लोग उग्र हो सकते हैं।


बता दें कि डब्ल्यूएचओ और इंटरनेशनल कमीशन आन नॉन-आइनाइजिंग रेडिएशन प्रोटेक्शन जैसी संस्थाओं ने भी 5जी से लोगों के स्वास्थ्य पर कोई प्रभाव पड़ने की आशंका को निराधार बताया है।