• संवाददाता

अरुणाचल प्रदेश: बर्फीले तूफान की चपेट में आए भारतीय सेना के 7 जवान शहीद


अरुणाचल प्रदेश, सोशल टाइम्स। पहाड़ी इलाके में 6 फरवरी से लापता सेना के 7 जवान हिमस्खलन की चपेट में आ गए थे, लेकिन अब पुष्टि हुई है कि सभी सैनिकों की वीरगति को प्राप्त हो गए है, सेना को उन सभी सैनिकों के शव मिल गए हैं।

अरुणाचल प्रदेश के कामेंग सेक्ट के ऊंचाई वाले हिस्से में हिमस्खलन में दबे भारतीय सेना के 7 जवान शहीद हो गए। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि शहीद 7 जवानों के शव हिमस्खलन वाली जगह से निकाले गए हैं। बता दें कि सैन्यकर्मी एक गश्ती दल में शामिल थे, वे रविवार को आए हिमस्खलन में फंस गए थे.सूत्रों के मुताबिक शहीद हुए 7 जवान 19-जम्मू और कश्मीर राइफल्स के थे। प्रधानमंत्री ने जताया दुःख प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दुख जताते हुए कहा कि अरुणाचल प्रदेश में हिमस्खलन में भारतीय सेना के जवानों के शहीद होने से दुखी हूं। हम अपने देश के लिए उनकी अनुकरणीय सेवा को कभी नहीं भूलेंगे।शोक संतप्त परिवारों के प्रति संवेदना। रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने व्यक्त की संवेदना रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने जवानों के शहीद होने पर संवेदना व्यक्त की। उन्होंने ट्वीट किया कि अरुणाचल प्रदेश में हिमस्खलन की चपेट में आए भारतीय सेना के जवानों के शहीद होने से गहरा दुख हुआ। इन वीर जवानों ने देश की सेवा करते हुए अपनी जान गंवाई। मैं उनके साहस और सेवा को सलाम करता हूं। उनके शोक संतप्त परिवारों के प्रति मेरी हार्दिक संवेदना.

आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक हिमस्खलन में फंसे जवानों के शव को भारतीय सेना ने स्थानीय पुलिस की मदद से निकाल लिया है। बता दें कि बीते रविवार को सेना के जवान तवांग सेक्टर में यांग्त्से के पास चुमे ग्यातर इलाके में गश्त कर रहे थे। उसी दौरान हिमस्खलन हुआ था। बचाव कार्यों में मदद करने के लिए विशेष टीमों को एयरलिफ्ट किया गया था। राहुल गांधी ने प्रकट की शोक संवेदना कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने जवानों के शहीद होने के बाद अपनी शोक संवेदना प्रकट की है। उन्होंने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में हिमस्खलन में फंसने से 7 जवानों के शहीद हो गए, यह जानकर दुख हुआ। जवानों के परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी गहरी संवेदना है।