• ब्यूरो

आंदोलित किसानों ने शिलान्यास के कुछ देर बाद ही उखाड़ दिया बीजेपी का दफ्तर


झज्जर। बीजेपी कार्यालय के भूमि पूजन और शिलान्यास के कुछ देर बाद ही किसानों के जत्थे ने बीजेपी कार्यालय के लिए रखी गई नींव उखाड़ फेंकी। कार्यालय के शिलान्यास कार्यक्रम के लिए प्रदेश अध्यक्ष ओम प्रकाश धनखड़ को 10 बजे पहुंचना था, लेकिन किसानों के विरोध के ऐलान के बाद ओमप्रकाश धनखड़ निर्धारित समय से 2 घंटे पहले पहुंचे और कार्यालय की नींव रखी। बीजेपी के नींव कार्यक्रम के खत्म हो जाने के 2 घंटे बाद भारी संख्या में किसान कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे और कार्यालय के लिए रखी गई नींव से ईटें उखाड़ फेंकी।


बीजेपी ने झज्जर के रेवाड़ी रोड पर जिला मुख्यालय के भवन के लिए शिलान्यास किया था। यह कार्यक्रम दिन के 10 बजे होना था, लेकिन रात को ही सोशल मीडिया पर कुछ किसानों ने भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ के विरोध करने की चेतावनी दे दी थी, जिसके चलते कल सुबह तकरीबन 8:15 बजे भाजपा प्रदेशध्यक्ष कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए और आनन-फानन में हवन के साथ ही भूमि पूजन समेत समस्त कार्यक्रम 9 बजे से पहले ही खत्म कर दिया।


समय पूर्व कार्यक्रम आयोजन के बारे में जैसे ही किसानों को भनक लगी, तो वे इकठ्ठा होना शुरू हो गए. तकरीबन साढ़े 10 बजे दर्जनों महिलाएं और किसान कार्यक्रम स्थल पर पहुंच गए। उन्होंने वहां काले झंडे लहराकर विरोध प्रदर्शन किया और भाजपा सरकार और प्रदेशाध्यक्ष ओपी धनखड़ के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। यहां पर भारी संख्या में ट्रैक्टर ट्राली और गाड़ियों पर सवार होकर किसान पहुंचे थे। इस दौरान किसानों ने झज्जर रेवाड़ी मार्ग पर रखी गई भाजपा कार्यालय की नींव की ईंट उखाड़ फेंकी। किसान नेता चिंटू की अगुवाई में ये किसान यहां पहुंचे थे। किसानों का कहना है कि देश और प्रदेश में वे भाजपा का विरोध जारी रखेंगे। चाहे सरकार उनके खिलाफ कितने ही केस दर्ज करा ले, लेकिन वे आंदोलन से पीछे हटने वाले नहीं हैं।