• ब्यूरो

फिर आ रहें है अखिलेश, लिख कर ले लीजिए ....

समाजवादी रसोई : भोजन पाकर बोला युवक


अखिलेश यादव ज़िंदाबाद के नारों से गूंजा ट्रामा सेंटर

लखनऊ। शनिवार को रोज़ की तरह समाजवादी रसोई ट्रामा सेंटर पहुँची। भोजन वितरण के दौरान हमेशा की तरह सेवा में सपा की गाड़ी देखते ही लोगों ने दौड़कर लाइन लगा ली। इसी दौरान खाना प्राप्त करते ही एक युवक भावुक हो गया। वो ज़ोर ज़ोर से अखिलेश यादव ज़िंदाबाद के नारे लगाने लगा। उसको रोक पाना जैसे मुश्किल हो गया। वो अंग्रेज़ी में बोलने लगा की ‘अखिलेश इज द बेस्ट।’ उसने कहा कि अखिलेश यादव फिर से मुख्यमंत्री के रूप में आ रहे हैं। ऐसा पढ़ा लिखा और कोई सीएम नही हुआ। उन्होंने जो विकास किया वो कोई नही कर सकता। अबकी 2022 में उनकी सरकार बनना तय है। उसकी भाषा से युवक काफ़ी पढ़ा लिखा प्रतीत हो रहा था। वहीं समाजवादी पार्टी के लोगों ने व जनता ने ज़ोर ज़ोर से अखिलेश यादव ज़िंदाबाद के नारे भी लगाए।


रसोई चला रहे युवजन सभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव ने बताया कि रोज़ ऐसे कोई ना कोई अखिलेश जी की तारीफ़ ज़रूर करता है। जनता के रुख़ से ये साफ़ हो गया है कि 2022 में सपा की सरकार बनना तय है। इस अवसर पर लखनऊ बार के महामंत्री जितेंद्र सिंह यादव ‘जीतू’ भी उपस्थित रहें।



बता दें कि समाजवादी रसोई समाजवादी रसो 8 जून, मंगलवार से पक्का पुल स्थित लेटे हुऐ हनुमान मंदिर में चल रही है। तबसे रोजाना मंदिर में भारी मात्रा में भोजन बनाया जाता है। जिसके बाद भोजन को मेडीकल कॉलेज, ट्रामा सेंटर, लोहिया आदि अस्पतालों में तीमरदारो, मरीजों, एवं स्टाफ में वितरित किया जाता है। विकास यादव व उनकी टीम प्रतिदिन करीब 1000 लोगों को भी खाना बाटती है। अब तक लगभग 11 दिन पूर्ण हो चुके हैं। रसोई करीब 10000 से ज्यादा लोगों का पेट भर चुकी है।


रसोई अस्पतालों के अलावा, मंदिरों, दरगाहों पर भी भोजन वितरण करती है। इस रसोई का संकल्प जरूरतमंदों तक खाना पहुंचाना है। साथ ही लोगों के बीच अखिलेश जी का संदेश पहुंचाकर, उन्हें पुनः प्रदेश का मुख्य्मंत्री बनाना है।