• ब्यूरो

जनादेश महारैली में बोलें अखिलेश: भाजपा का सफाया होना तय

पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर चलने पर कमर दर्द, पेट दर्द हो जाएगा...

अम्बेडकर नगर, सोशल टाइम्स। रविवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अकबरपुर में भानुमति स्मारक पी.जी. कॉलेज में आयोजित जनादेश महारैली को सम्बोधित किया। इस अवसर पर समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल की उपस्थिति में बसपा के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री लालजी वर्मा एवं रामअचल राजभर ने समाजवादी पार्टी की सदस्यता ग्रहण की। यादव ने सपा सरकार में महंगाई से निजात दिलाने और बुनकरों-गरीबों को बिजली दरों में राहत दिलाने का भरोसा दिया। बुनकरों को फ्लैट रेट पर बिजली मिलेगी। पुरानी पेंशन बहाल करेंगे। अखिलेश यादव ने कहा कि जनता में भाजपा को लेकर भारी आक्रोश है। भाजपा का सफाया होना तय है। चुनाव में पिछड़ों का इंकलाब होगा और 2022 में बड़ा बदलाव होगा। बदलाव का संदेश पूरे देश में जा रहा है। जनता चार सौ सीटों पर भाजपा को हरा देगी। यादव ने कहा कि डॉ0 राम मनोहर लोहिया और डॉ0 भीमराव अम्बेडकर की विचारधाराओं पर चलने से ही समता मूलक समाज के निर्माण का सपना पूरा हो सकता है। उन्होंने देश की राजनीति में परिवर्तन लाने की कोशिश की थी। आज जाति-धर्म में बांटने का प्रयास हो रहा है। किसानों को बर्बाद किया है। भाजपा की तीन इंजन की सरकार यानी केन्द्र सरकार, राज्य सरकार और लखीमपुर खीरी के मंत्री सभी ने किसानों को कुचलने का काम किया है। किसान की आय दुगनी नहीं हुई। मानवाधिकार आयोग ने पुलिस हिरासत में हुई मौतों पर सबसे ज्यादा नोटिसें उत्तर प्रदेश सरकार को दी। उन्होंने कहा इस सरकार ने गरीबों से वोट लिया, अमीरों से नोट लिया और सरकारी सम्पत्तियों बेच कर चोट किया।

यादव ने कहा गरीबों के हित में समाजवादी सरकार की जितनी अच्छी योजनाएं थी वह सब भाजपा सरकार ने बंद कर दी। जिस पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन होने जा रहा है वह समाजवादियों का काम है। भाजपा के पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे पर चलने पर कमर दर्द, पेट दर्द हो जाएगा जबकि आगरा-लखनऊ एक्सप्रेस-वे पर स्पीड से चलें तो भी ग्लास में पानी या कप में चाय छलकेगी नहीं। उन्होंने कहा मुख्यमंत्री जी का बुलडोजर सड़क पर चला होता तो वह अच्छी बनती। नौजवानों को बुलडोजर नहीं लैपटॉप की जरूरत है। भाजपा के वादे का लैपटॉप और 2 जीबी डेटा कहां गया? कोविड के समय भाजपा सरकार न दवा दे पाई न ही ऑक्सीजन और बेड दे पाई। कितने लोगों की तब जाने चली गई। भाजपा सरकार में नौजवानों का भविश्य अंधेरे में है। मुख्यमंत्री जी रोजगार नहीं दे पा रहे हैं। वे केवल धुंआ उड़ा रहे हैं।