top of page
  • ब्यूरो

ये नारा अच्छा निकाला, 'लहर बड़ी करारी है...चिलम पर साइकिल भारी है': अखिलेश

इस बार कुंडा में गुलशन ही गुलशन होगा...

प्रतापगढ़, सोशल टाइम्स। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने एक जनसभा को सम्बोधित करते हुए कहा कि "ये नारा बड़ा अच्छा निकाला है ... लहर बड़ी करारी है...चिलम पर साइकिल भारी है। आपको पता लग गया होगा कि सपा सरकार बनने वाली है।"

सपा अध्यक्ष ने गुरुवार को प्रतापगढ़ की कुंडा और सदर सीट पर प्रचार किया। उन्होंने जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि साइकिल वालों के साथ अन्याय बहुत हुआ है। घबरा तो नहीं जाओगे। आपका जिला पंचायत लूटा, ब्लाक प्रमुख लूटा। उन्होंने कहा कि इधर हमने देखा है कि खेतों में तार लगाना पड़ रहा है। हमारे नौजवान रात में रखवाली करते हैं और सुबह भर्ती के लिए दौड़ लगाते हैं। हम सरकार बनने पर निगरानी से भी मुक्ति देंगे और भर्ती करा नौकरी भी देंगे। कुंडा में तो कुंडी लग गई। प्रतापगढ़ में सारी सीटें जिताओगे कि नहीं। प्रतापगढ़ में मंत्रियों वाली कुर्सियां खाली है। आदरणीय राजमाता कृष्णा पटेल जी तो मंत्री बनेंगी ही उनके लिए कहना नहीं है। लेकिन मोती सिंह जो मंत्री थे उनका मुकाबला मंत्री ही करेगा। यादव ने कहा कि भाजपा के नेता का लैपटॉप वाला वीडियो देख कर लोग लोटपोट हो रहे हैं। कह रहे हैं कि 12 वीं पास इंटरमीडिएट में एडमिशन लेने वालों को लैपटॉप देंगे। शुक्र है इन्होंने ऐसा नहीं कहा कि इंटर के बाद 10 वीं पास करने वालों को लैपटॉप देंगे। अखबारों में आने लगा है कि इनकी सरकार आ गई तो 200 रुपए में पेट्रोल बेचेंगे बीजेपी वाले- भाजपा के लोगों ने गरीबी और महंगाई के मुद्दे पर न जाने कौन सा ताला लगा लिया है अपने मुंह पर। कुछ बोल ही नहीं रहे हैं इन मुद्दों पर। अखिलेश ने कहा कि हम जहां राज माता कृष्णा पटेल जी के लिए वोट मांग रहे हैं, वहीं हमारे मंच पर युवा साथी दिखाई दे रहे हैं वो पहले ही जीत गए होते लेकिन अन्याय हुआ, झूठे मुकदमे हुए, जेल जाना पड़ा, अत्याचार हुआ। पंचायत चुनाव में भी नंगा नाच देखने को मिला। कुंडा में अन्याय की सभी सीमा लांघी गई है। कुंडा में बदलाव होगा। सपा अध्यक्ष ने कहा कि जबसे जनता ने बीजेपी की खड़ी की है खटिया, तबसे बयान आ रहे हैं घटिया। सी सरकार जिसने महंगाई बढ़ाई हो, मजदूर को पैदल चलाया हो, दवाई ना दी हो। ऐसी सरकार को हटाओगे कि नहीं हटाओगे ? मैंने सुना है इस बार तरह तरह के हथकंडे अपनाए जा रहे हैं। धमकी भी दी जा रही है। कुछ दिया भी जा रहा है। डराया भी जा रहा है। इसलिए डरना मत। इस बार कुंडा में गुलशन ही गुलशन होगा।मैं कुंडा के लोगों से विशेष निवेदन करने आया हूं कि कुंडा के लोगों को हमेशा मंत्री मिलता था। रह गए कि नहीं खाली। पहले भाजपा और सपा सरकार में मंत्री बन जाते थे इस बार रह गए खाली हाथ। कुंडा में मिले जनसमर्थन को अगर गर्मी निकालने वाले देख लेंगे तो उनकी भाप निकल जाएगी। ये लोग गरीबों की जेब से पैसा निकालकर उद्योगपतियों की तिजोरी में भरने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि आपने देखा होगा कि एक उद्योगपति 28 बैंकों से 22 हजार करोड़ रुपए लेकर भाग गया। यहां पर लग रहा है कि आजादी की खुशी मनाई जा रही है आप ना सिर्फ वोट डालने जा रहे हो बल्कि अपनी आजादी भी हासिल करने जा रहे हो। जो लोग यहां पर बहुत दिनों से कब्जा किए थे इस बार लग रहा है उनको हटाने का समर्थन हमें दिखाई दे रहा है।

bottom of page