• ब्यूरो

कोविड के डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर प्रदेश में अलर्ट

कोविड नियंत्रण के लिए सरकार की रणनीति कारगर साबित हुई : मुख्यमंत्री

लखनऊ, सोशल टाइम्स। कोविड 19 के नए वैरिएंट डेल्टा प्लस संक्रमण को देखते हुए राज्य में अलर्ट रहने के निर्देश दिए गए हैं। जिन राज्यों में डेल्टा प्लस के मरीज मिलेंगे, उनसे सटी सीमाओं के जिलों में तत्काल जीनोम सिक्वेसिंग शुरू कराई जाएगी। मुख्यमंत्री योगी ने नए वैरिएंट को लेकर हर स्तर पर सचेत रहने और विशेष सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं। वह गुरुवार को लोक भवन में उच्च स्तरीय बैठक को संबोधित कर रहे थे।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कोविड नियंत्रण के लिए प्रदेश सरकार द्वारा अपनायी गयी रणनीति कारगर साबित हुई है। अब नई चुनौती के रूप में नया वैरिएंट सामने आया है। डेल्टा प्लस वैरिएंट को लेकर राज्य स्तरीय परामर्शदाता समिति के साथ बैठक कर इस संबंध में आवश्यक रणनीति तय की जाए। उन्होंने कहा कि डेल्टा प्लस की पुष्टि पड़ोसी राज्यों में होती है तो सीमा से सटे जिलों में विशेष सावधानी बरती जाए।

पड़ोसी जिलों के लोगों के सैंपल लेकर जीनोम सिक्वेंसिंग कराई जाए। जीनोम सिक्वेंसिंग के लिए केजीएमयू में सुविधाएं जल्द से जल्द उपलब्ध कराई जाएं। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीआईसीयू व एनआईसीयू स्थापना की प्रतिदिन समीक्षा की जाए। बाईपैप मशीन, मोबाइल एक्स.रे मशीन सहित सभी जरूरी मेडिकल उपकरणों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। इसके लिए निर्माता कंपनियों से सीधे संवाद किया जाए।

 

उन्होंने कहा कि चिकित्सकों एवं नर्सिंग स्टाफ  के पहले चरण का प्रशिक्षण कार्य पूरा हो चुका है। इनके माध्यम से अन्य स्वास्थ्यकर्मियों को प्रशिक्षित किया जाए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विशेषज्ञों के परामर्श के अनुसार सभी जरूरी उपयोगी दवाओं की व्यवस्था भी कर ली जाए।