• संवाददाता

नकली रेमडेसिविर बेचने वाला बैंक मैनेजर गिरफ्तार



लखनऊ। मड़ियांव पुलिस ने रेमडेसिविर इंजेक्शन की कालाबाजारी करते हुए बांके बिहारी नामक एक बैंक मैनेजर को गिरफ्तार किया। बैंक मैनेजर के पास से 12 रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद हुए हैं।


नकली इंजेक्श लगते ही शुरू हुआ इनफेक्शन


मोहन रस्तोगी की मां की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। उन्हें एक निजी अस्पताल में भर्ती कराकर इलाज करवाया जा रहा है। लेकिन इसी बीच डॉक्टर द्वारा मरीज के तीमारदार से रेमडेसिविर इंजेक्शन लाने को कहा गया। परिवारीजनों ने कई लोगों से संपर्क किया। तभी सोशल मीडिया के माध्यम से एक नंबर प्राप्त हुआ था। उस नंबर पर दिनेश नाम के युवक से बात हुई। दिनेश ने अपने साथी बांके बिहारी से लेने के लिए कहा। बांके बिहारी ने रेमडेसिविर इंजेक्शन को 45 हजार रुपये में दिया। लेकिन इंजेक्शन लगाते ही मरीज को इनफेक्शन शुरू हो गया।


डॉक्टरों ने उस इंजेक्शन को चेक किया तो वह नकली निकला। परिवारीजनों को इस बात की जानकारी लगते ही नकली इंजेक्शन देने वाले को पकड़वाने का प्लान बनाया गया। बांके बिहारी को संपर्क किया गया। बांके से कहा गया कि उनको रेमडेसिविर इंजेक्शन की जरूरत है। बांके ने कहा कि ठीक है मिल जाएगा। उसके बाद बांके बिहारी अपनी कार से इंजीनियरिंग कॉलेज चौराहे के पास इंजेक्शन लेकर पहुंचा। इस बात को पहले से ही स्थानीय पुलिस को संपर्क कर बता दिया गया था। बांके जैसे ही पहुंचा, उसको पकड़ लिया गया। पूछताछ में मालूम हुआ कि आरोपी बांके बिहारी गोमतीनगर इलाके में स्थित बैंक में ब्रांच मैनेजर के पद पर कार्यरत है। पुलिस ने हिरासत में लेकर उसकी जामा तलाशी ली तो उसके पास एक दर्जन रेमडेसिविर इंजेक्शन बरामद हुए।


पीड़ित ने दर्ज कराया मुकदमा


मड़ियांव थाना प्रभारी निरीक्षक मनोज कुमार सिंह के मुताबिक, मोहन रस्तोगी ने मुकदमा दर्ज कराया है। उन्होंने बताया कि शिकायती पत्र में कहा गया है कि पकड़े गए आरोपी द्वारा अभी हाल ही के दिनों में इंजेक्शन 45 हजार रुपये में बेचा गया था। तीनों इंजेक्शन नकली होने की बात कही गई है। मंगलवार को रेमडेसिविर इंजेक्शन बेचने आए बांके बिहारी को रंगेहाथ गिरफ्तार किया गया है। प्रभारी निरीक्षक के मुताबिक, बांके बिहारी मूल रूप से जालौन का रहने वाला है। वह गोमतीनगर के एक बैंक में मैनेजर के पद पर कार्यरत है। आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है जिसके खिलाफ कानूनी कार्रवाई करते हुए आगे की कार्रवाई की जा रही है।