• ब्यूरो

लोकतंत्र का अपमान करने पर तुली भाजपा : अखिलेश

भाजपा नेतृत्व में सत्ता का गुरूर छाया है...


लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा जनता और लोकतंत्र का अपमान करने पर तुली है। जनता ने पंचायत चुनावों में भाजपा को हरा दिया तो अब धांधली से अपनी खोई गरिमा हासिल करना चाहती है। भय और लालच दिखाकर ब्लाक प्रमुख और जिला पंचायत अध्यक्षों की कुर्सी हथियाने का ख्वाब देख रही भाजपा सत्ता का दुरुपयोग करने पर लगी हुई है।

उन्होंने कहा कि हर जिले में प्रशासन द्वारा समाजवादी पार्टी के प्रत्याशियों पर भाजपा फर्जी मुकदमें करवाकर उन्हें डरा धमका रही है। जनता ने भी मन बना लिया है कि इस बार भाजपा को मनमानी नहीं करने देगीं। महामहिम राज्यपाल महोदया को भी स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव के लिए हस्तक्षेप करते हुए समुचित निर्देश देने चाहिए।

भाजपा के पक्ष में मतदान के लिए दबाव डाला जा रहा


यादव ने कहा कि सत्ता की भूख में भाजपा ने पुलिस और राजस्व विभाग के अधिकारियों को भी क्षेत्र पंचायत एवं जिला पंचायत सदस्यों पर प्रलोभन एवं आंतक के जरिए भाजपा के पक्ष में मतदान के लिए दबाव डाला जा रहा है। समाजवादी पार्टी के समर्थकों के मकान ध्वस्त किए जा रहे हैं। माफिया बताकर जिला बदर की कार्रवाई की जा रही है। थाने पर बुलाकर प्रताड़ित किया जा रहा है। घरों पर दबिश डालकर परिवार की महिलाओं-बच्चों तक से अभद्रता की जा रही है। यह राजनीतिक एवं संवैधानिक मूल्यों की साख को बट्टा लगाना है।

भाजपा नेतृत्व में सत्ता का गुरूर छाया है


सपा प्रमुख ने कहा कि भाजपा नेतृत्व में सत्ता का गुरूर छाया है, विपक्ष के प्रति द्वेषभाव है और अहंकार सिर पर चढ़कर बोल रहा है। भाजपा ने अपनी कुनीतियों से जनता को निराश कर दिया है। उत्तर प्रदेश में भाजपा का यही वास्तविक परिचय है। भाजपा को लेकिन यह समझना चाहिए कि लोकतंत्र में गरिमा जनादेश का सम्मान करने में होती है उसके साथ धोखाधड़ी करने में नहीं। समाजवादी पार्टी विकास और सद्भाव के लिए प्रतिबद्ध है। जनता समाजवादी पार्टी पर ही भरोसा करती है। उसका विश्वास है कि समाजवादी पार्टी ही उनकी समस्याओं का हल और राज्य का विकास कर सकती है।