• ब्यूरो

भाजपा ने अपने संकल्प-पत्र का कोई वादा पूरा नहीं किया: अखिलेश

आजादी के इतने वर्षों के बाद भी किसान संकट में ...

लखनऊ, सोशल टाइम्स। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा ने अपने संकल्प-पत्र के पहले पृष्ठ में ही जो वायदे किए थे उनको भी पूरा नहीं किया। उसने किसानों की आय दुगनी करने और दूध के नए प्लांट लगाने का वादा किया था। न किसान की आय दोगुनी हुई न गन्ना किसानों का बकाया भुगतान हुआ और नहीं दूध के नए प्लांट लगे। भाजपा सरकार ने नौजवानों को रोजगार नहीं दिया है। प्रदेश की जेलों में पिछड़े, दलित और मुसलमान सबसे ज्यादा बंद है। इस सबके लिए भाजपा सरकार जिम्मेदार है। यादव आज यहां विभिन्न दलों से आए नेताओं को पार्टी की सदस्यता दिलाने के बाद पत्रकारों से वार्ता कर रहे थे। महामण्डलेश्वर बालयोगी स्वामी सत्यात्मानंद गिरि ने वृंदावन के लड्डू गोपाल, रुद्राक्ष माला, अंगवस्त्र तथा छप्पन भोग भेंट किया जबकि सरदार देवेन्द्र सिंह ने तलवार भेंट की। इस अवसर पर वरिष्ठ नेता अबू आसिम आजमी, राष्ट्रीय महासचिव इन्द्रजीत सरोज, प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल, सांसद विशम्भर प्रसाद निषाद, शिक्षक महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष प्रोफेसर बी. पाण्डेय, पूर्व मंत्री राकेश वर्मा, पूर्व सांसद त्रिभुवनदत्ता आदि उपस्थित थे। अखिलेश यादव ने कहा कि आजादी के इतने वर्षों के बाद भी किसान संकट में है। भाजपा किसान विरोधी है, रोटी-कपड़ा देने वाला अन्नदाता परेशान है। भाजपा सरकार तीन काले कृषि कानून बनाकर किसानों की जमीनें छीनने का षड़यंत्र कर रही है। इसलिए किसान भाजपा के खिलाफ लगातार आंदोलन कर रहे हैं। सरकार उनकी बात नहीं सुन रही है। विकास के लिए किसानों की अधिग्रहित की गई जमीन का वाजिब मुआवजा तक नहीं दिया जा रहा है। समाजवादी पार्टी की सरकार में किसानों को न्याय मिलेगा, उनको सर्किल रेट से चार गुना मुआवजा दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि भाजपा ने अपने संकल्प-पत्र में पहले पृष्ठ पर सन्2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने का वादा किया पर किसान को क्या मिला? खाद-बीज, कीटनाशक, पेट्रोल-डीजल, कृषियंत्र आदि खेती से सम्बन्धित सभी आवश्यक वस्तुए महंगी कर दी गई। भाजपा का संकल्प-पत्र में दूसरा वादा था दूध डेयरी प्लांट लगाने की बड़ी योजना बनाने का। भाजपा ने इसे भी भुला दिया। समाजवादी पार्टी की सरकार में ही अमूल के दो प्लांट लगे थे। मदर डेरी का प्लांट लगा था। अमूल प्लांट में यूपी के किसानों से नहीं गुजरात से दूध लिया जा रहा है। समाजवादी पार्टी की सरकार के समय पराग डेरी को पटरी पर लाया गया था। भाजपा ने डेयरी विकास के सभी कामों को रोक दिया। यादव ने कहा कि सोशल मीडिया में भाजपा ने झूठ फैलाकर जनता को भ्रमित करने का काम किया है। जनता अब सच जानने लगी है। समाजवादी सरकार में फोर-जी का विस्तार हुआ जिससे गांव-गांव तक नेट सेवा उपलब्ध है। भाजपा की पोल खुलने से उसमें घबराहट है। उन्होंने कहा भाजपा का दोहरा चरित्र है। एक ओर वह जिला पंचायत अध्यक्षों का स्वागत कर रही है दूसरी ओर उसी ने लोकतंत्र की हत्या की है, महिलाओं का चीर हरण किया। जनता भाजपा को माफ नहीं करेगी। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी की सरकार में पूर्वांचल एक्सप्रेस-वे की जमीन 70 प्रतिशत अधिग्रहित की गई थी। उसके आगे एक इंच जमीन नहीं ली गई है। भाजपा को अपने ठेकेदारों को एडजस्ट करना था इसलिए टेण्टर रोका गया। उन्होंने कहा गोरखपुर में नाव चल सकती है, मेट्रो नहीं। जो शिक्षक कोविड से मरे उनकी सही संख्या बताने में परहेज किया जा रहा है। मुख्यमंत्री जी को चेतावनी देते हुए कहा कि वे अपनी भाषा पर संयम रखें। वर्ना उनको उन्हीं की भाषा में जवाब मिलेगा। किसान विरोधी, विकास विरोधी भाजपा सरकार को जनता बर्दाश्त नहीं करेगी।