• ब्यूरो

सीबीआई और ईडी लगाकर विधायकों को खरीदने बेचने का खेल खेल रही है भाजपा: सभाजीत सिंह



लखनऊ। आम आदमी पार्टी के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह ने प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहा कि भाजपा का काम विधायकों को खरीदना और विपक्ष की सरकार गिराना रह गया है भाजपा पैसों से विधायकों की खरीद-फरोख्त करके अब तक कई राज्यों में सरकार गिरा चुकी है महाराष्ट्र गोवा कर्नाटक आसाम मध्य प्रदेश बिहार अरुणाचल प्रदेश की सरकार गिराई। जनता के टैक्स के पैसों को विधायकों को खरीदने में लगा रही है आम जनता के खून पसीने की मेहनत की कमाई को अपने अरबपति दोस्तों के कर्जा माफ करने में लगा रही है।


सभाजीत सिंह ने कहा भाजपा केवल एक ही पैटर्न पर चलती है और वह यह है कि हर विधायक को वह सीबीआई और ईडी का डर दिखाकर उनको संबंधित पार्टी से तोड़ती है और भाजपा में 20 - 20 करोड़ रुपए देकर शामिल कर लेती है, अगर इस तरह से जोड़ा जाए तो भाजपा अब तक देश भर से 277 विधायक खरीद चुकी है जिनकी कुल कीमत 5500 करोड रुपए निश्चित रूप से होनी चाहिए. केंद्र की भाजपा सरकार से सवाल करते हुए सभाजीत सिंह ने कहा कि दिन प्रतिदिन इतनी महंगाई बढ़ती जा रही है और उस पर से हर वस्तु पर जीएसटी लगा दिया गया है तो इतना पैसा आखिर जा कहां रहा है ?2014 में डीजल का दाम ₹54 था जो आज ₹90 हो चुका है, उसी 2014 में पेट्रोल का दाम ₹60 लीटर था जो आज ₹110 लीटर हो चुका है, सीएनजी ₹35 में मिलती थी जो आज ₹75 में मिल रही है, उन्होंने कहा कि रसोई गैस सिलेंडर ₹410 में मिलता था जो आज ₹1053 में मिल रहा है इसी तरह सरसों का तेल ₹70 लीटर मिलता था आज ₹170 लीटर मिल रहा है।


उन्होंने कहा कि जनता महंगाई से त्रस्त है, पेट्रोल डीजल के दाम आज आसमान छू रहे हैं, दूध, दही, आटा, चावल, तेल दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली वस्तुओं पर जीएसटी लगा दी गई है, आखिर किस छोर पर सरकार ने जनता को आराम दिया है. सभाजीत सिंह ने कहा कि भाजपा सत्ता के नशे में देशवासियों की समस्याओं को भूल चुकी है, अपने पूंजीपति करीबी मित्रों को फायदा पहुंचाने के लिए भाजपा दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली वस्तुओं का सामान बढ़ाकर देशवासियों पर आर्थिक बोझ बढ़ाती जा रही है. उन्होंने कहा कि लाल किले के भाषण में प्रधानमंत्री मोदी ने भ्रष्टाचार के खिलाफ लोगों से सहयोग और समर्थन मांगा लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भ्रष्टाचार से संबंधित पांच ज्वलंत मुद्दे उनके सामने रखे. सभाजीत सिंह ने कहा कि अरविंद केजरीवाल द्वारा प्रधानमंत्री से पूछे गए सवाल कुछ इस तरह से थे कि गुजरात में 27 साल से भाजपा की सरकार है वहां का युवा पेपर लीक की समस्या से परेशान रहता है क्यों आज तक इसका कोई हल नहीं निकल सका क्यों मोदी सरकार ने किसी अपराधी को पकड़ कर जेल में नहीं डाला? गुजरात में मोदी जी के एक दोस्त के निजी पोर्ट पर 22000 करोड़ के ड्रग्स पकड़े जाते हैं तो अगर मोदी जी सही है तो गुजरात चुनाव से पहले सीबीआई और ईडी द्वारा अपने मित्र की जांच करवाएं, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने प्रधानमंत्री के सामने यह भी मुद्दा उठाया था कि गुजरात में 50 लोग जहरीली शराब पीने के कारण मर चुके हैं और सभी जानते हैं कि गुजरात में जहरीली शराब का व्यापार भाजपा नेताओं की सांठगांठ के द्वारा चलाया जाता है तो अगर मोदी जी वास्तव में भ्रष्टाचार के खिलाफ समर्थन मांग रहे हैं तो गुजरात चुनाव से पहले इन व्यापारियों पर सीबीआई और ईडी की जांच करवा कर दिखाएं, सभाजीत सिंह ने बताया कि अरविंद केजरीवाल ने चौथा प्रश्न पूछा है कि प्रधानमंत्री बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने गए थे जो उद्घाटन के पांचवें दिन ही धस गया और हैरत की बात यह कि उन ठेकेदारों के खिलाफ एक्शन लेने के बजाय उन्हीं को आगे निर्माण के और भी ठेके दे दिए गए तो अगर मोदी जी भ्रष्टाचार को समाप्त करना चाहते हैं तो उनके ऊपर सीबीआई और ईडी की जांच करवा कर दिखा दे और इसी तरह केजरीवाल ने पांचवा प्रश्न यह पूछा है कि प्रधानमंत्री अपने उद्योगपति मित्रों का 10 लाख 72 हजार करोड़ माफ कर दिया और यह वही अरबपति दोस्त हैं जो पार्टी फंड में चेक द्वारा मोदी जी को मोटा चंदा देते हैं तो अगर मोदी सरकार में दम है तो इन सभी पूंजीपतियों पर सीबीआई और ईडी की जांच बिठा कर दिखा दे। लेकिन अरविंद केजरीवाल द्वारा पूछे गए सभी प्रश्नों के उत्तर में भाजपा की तरफ से कोई भी जवाब नहीं दिया गया है। इस मौके पर निवर्तमान प्रदेश महासचिव दिनेश सिंह पटेल और यूथ विंग के महासचिव अंकित परिहार मौजूद रहे।