• ब्यूरो

हर जिले में मिलेगा ब्लैक फंगस का इलाज


लखनऊ। प्रदेश में कोविड संक्रमण की धीमी होती रफ्तार के बीच पैर-पसारते ब्लैक फंगस नाम की बीमारी से बचाव की तैयारी शुरू हो गई है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देशानुसार कोविड और पोस्ट कोविड मरीजों में फैल रहे ब्लैक फंगस का इलाज अब सभी जिलों में मिलेगा। एसजीपीजीआई के चिकित्सा विशेषज्ञों की टीम ज़रूरत के हिसाब से जिलो कि टीम को परामर्श देती रहेगी। इसके अलावा एसजीपीजीआई के 12 डॉक्टरों की टीम भी गठित कर दी गई है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के निर्देश पर एसजीपीजीआई में ब्लैक फंगस के मरीजों के उपचार के लिए 12 सदस्यीय वरिष्ठ डॉक्‍टरों की टीम गठित कर दी गई है। इस टीम से अन्य डॉक्‍टर मार्गदर्शन भी ले सकेंगे। जिससे जरूरत के मुताबिक एसजीपीजीआई की टीम संबंधित जिले के चिकित्सकों की टीम को सलाह देती रहेगी।

आरके धीमान की अध्यक्षता में हुआ प्रशिक्षण


वहीं शनिवार को पीजीआई के निदेशक डॉ. आरके धीमन की अध्यक्षता में विशेष टीम ने प्रदेश के विभिन्न सरकारी व निजी मेडिकल कॉलेजों, अस्पतालों के डॉक्टरों को इलाज के बारे में प्रशिक्षण दिया। ऑनलाइन प्रशिक्षण कार्यशाला में डॉक्टरों को ब्लैक फंगस के रोगियों की पहचान, इलाज, सावधानियों आदि के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई। बता दें कि विशेषज्ञों के अनुसार म्यूकर माइकोसिस (ब्लैक फंगस), चेहरे, नाक, साइनस, आंख और दिमाग में फैलकर उसको नष्ट कर देती है। इससे आंख सहित चेहरे का बड़ा भाग नष्ट हो जाता है और जान जाने का भी खतरा रहता है। इसके लक्षण दिखते ही तत्काल उचित चिकित्सकीय परामर्श लेना बेहतर है।