• संवाददाता

खीरी पहुंची कमिश्नर, जाना बाढ़ पीड़ितों का दर्द


लखीमपुर खीरी। गुरुवार सुबह लखनऊ मंडल की आयुक्त डॉ रोशन जैकब औचक रूप से जनपद खीरी पहुंची, जहां उन्होंने ना केवल अफसरों से बाढ़ से प्रभावित तहसीलों एवं उनमें प्रभावित व्यक्तियों को दी जाने वाली राहत सामग्री की समीक्षा की बल्कि स्वयं तहसील सदर, ब्लॉक फूलबेहड़ के बाढ़ग्रस्त इलाकों का जायजा लेने जा पहुंची।


आयुक्त डॉ रोशन जैकब ने डीएम महेंद्र बहादुर सिंह सीडीओ अनिल कुमार सिंह के संग तहसील लखीमपुर एवं ब्लाक फूलबेहड़ के बाढ़ ग्रस्त ग्रामों में जा पहुंची, जहां उन्होंने ट्रैक्टर एवं मोटरबोट के जरिए प्रभावित गांवों तक पहुंच कर उनका दुख दर्द जाना एवं मिलने वाली सुविधाओं की पड़ताल की।


आयुक्त डॉ रोशन जैकब ने डीएम-सीडीओ संग मीलपुरवा से एनडीआरएफ के मोटरबोट पर सवार होकर डेढ़ घंटे जलमग्न ग्राम जगन्नाथपुरवा एवं उसके मजरो का भ्रमणकर प्रभावित ग्राम वासियों से उनका दुख-दर्द जाना, एवं हर संभव मदद के लिए आश्वस्त किया। उन्होंने कहा कि मैं लखनऊ की कमिश्नर आपका हाल-चाल जानने आई हूं। भोजन सहित राहत सामग्री मिलने के सवाल पर ग्रामीणो ने हामी भरी। वही बिजली ना आने की बात कही। कमिश्नर ने विद्युत विभाग के आलाअफसरों से कारण जाना। लोकल फाल्ट की बात प्रकाश में आने पर निर्देश दिए कि आजशाम तक अनिवार्य रूप से विद्युत आपूर्ति सुनिश्चित की जाए। मोटर बोट में एनडीआरएफ टीम कमांडर उप निरीक्षक अजय सिंह, सहायक उपनिरीक्षक रंजन जयसवाल ने दो मोटर बोट के जरिए आयुक्त समेत अफसरों को बाढ़ ग्रस्त इलाकों का भ्रमण कराया।


कमिश्नर रोशन जैकब ने डीएम व सीडीओ संग ट्रैक्टर ट्राली पर सवार होकर करीब दो घंटे तक मंगलीपुरवा, गूम, जंगल नंबर 11, करदहिया सहित गांव के कई मजरों का ट्रैक्टर से भ्रमण किया। इस दौरान उन्होंने इस्लाम अली, सैफून निशा, भगवानदास व रामासरे सहित कई प्रभावितों से बातचीत कर भोजन एवं अन्य राहत सामग्री की पुष्टि की। उन्होंने अफसरों से बाढ़ग्रस्त इलाकों (नदी कटान क्षेत्र) पानी उतरने के बाद सर्वे कराकर बेघर हुए परिवारों को पुनर्वासित करने हेतु आवासीय पट्टा व सीएम आवास प्रदान करने की कार्ययोजना बनाने के स्पष्ट निर्देश दिए। एसडीएम को निर्देश दिए कि प्रभावित गांवों के 05-06 लोगों के प्रतिदिन संपर्क रखा जाए। प्रत्येक प्रभावित परिवार तक भोजन व उनकी जरूरत के अनुसार दवा भी पहुंचाए।


आयुक्त ने कहा कि निरीक्षण के दौरण बातचीत करने पर सभी प्रभावितों लोगों ने भोजन मिलने की पुष्टि की है। मेडिकल टीमों को निर्देश दिया है कि वह भोजन वितरण के दौरान लोगों को जरूरी दवाएं उपलब्ध कराएं। बेघरों के लिए भी प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए है। इस दौरान एसडीएम सदर श्रद्धा सिंह, तहसीलदार सुशील प्रताप सिंह, बीडीओ पीयूष सिंह, प्रधान करदहिया मानपुर प्रीतम यादव, प्रधान पिपरागूम प्रशांत तिवारी, प्रधान जंगल नंबर-11 तेजलाल निषाद, प्रधान लोकिहा सुमित तिवारी मौजूद रहे।


करीब शाम 04.30 बजे आयुक्त डॉ रोशन जैकब ने डीएम महेंद्र बहादुर सिंह व सीडीओ अनिल सिंह संग एसडीएम की गाड़ी पर सवार होकर अफसरों संग तहसील गोला, ब्लाक बिजुआ की बाढ़ प्रभावित ग्राम पंचायत करसौर पहुची। जहां वहां के बाशिंदों से संवाद किया, मिलने वाली राहत सामग्री की पुष्टि की। आयुक्त से बातचीत के दौरान प्रभावितों ने प्रशासनिक राहत सहायता मिलने की बात कही। इस दौरान उन्होंने ग्रामीणों के साथ बाढ़ में प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से निर्मित करसौर-चकपुरवा लिंक मार्ग कटा देख निर्देश दिए कि पीडब्ल्यूडी इस रोड को दुरुस्त कराएं।