• ब्यूरो

कानपुर में ग़रीबों की झूग्गियां तोड़े जाने की कांग्रेस ने की निंदा

उजाड़े गये लोगों का हो पुनर्वास, मिले आर्थिक सहायता: पुनिया

लखनऊ, सोशल टाइम्स। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व सांसद पी0एल0 पुनिया ने कानपुर में बीजेपी दफ्तर के उद्घाटन से पहले ग़रीब मूर्तिकारों की झुग्गियां उजाड़े जाने की कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि इस घटना ने योगी सरकार का ग़रीब विरोधी चेहरा उजागर कर दिया है। उन्होंने कहा कि जिन राजस्थानी मूर्तिकारों को उजाड़ा गया, वे भगवान की मूर्तियां बनाते थे और प्रशासन ने अपनी कार्रवाई के दौरान इन मूर्तियों को भी रौंद दिया। पुनिया ने कहा कि बीजेपी अध्यक्ष जे.पी.नड्डा और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज कानपुर में पांच सितारा होटल जैसे पार्टी कार्यालय का उद्घाटन किया। पूरा प्रशासन सत्ताधारी पार्टी के कार्यक्रम को भव्य बनाने में जुटा रहा, लेकिन इस भव्यता के पर्दे में योगी सरकार के काले कारनामे छिप नहीं सकते। सरकार के इशारे पर जिला प्रशासन ने बीजेपी दफ्तर के आस-पास और रास्ते पर पड़ने वाली झुग्गियों में रहने वाले परिवारों को उजाड़ दिया। कानपुर दक्षिण के रेल मैदान में एक किनारे रहने वाले राजस्थानी मूर्तिकारों के जिस परिवार को उजाड़ा गया, वह दस साल से वहां रहता था। प्रशासन ने एक दिन पहले ही उनका आशियाना तोड़ दिया। यह भी ध्यान नहीं दिया गया कि परिवरा में विकलांग, बूढ़े, बच्चे और गर्भवती महिलायें भी शामिल हैं। पुलिस ने उनके साथ बर्बर व्यवहार किया। जेसीबी लगाकर उनका घर तोड़ा गया और मूर्तियों को भी रौंदा गया।

पुनिया ने बताया कि शहर कांग्रेस कमेटी ने खुले आसमान के नीचे पड़े इन मूर्तिकारों के परिवार को मदद दी लेकिन इस घटना ने साबित कर दिया है कि योगी सरकार का ग़रीबों के प्रति क्या रुख है। कानपुर की जनता ने कोरोना के समय जिस तरह का कष्ट भोगा, उसे वह भूली नहीं है। जनता मेडिकल सुविधाओं, यहां तक कि आक्सीजन सिलेंडर के लिए भी तड़पती रही। गंगा में उतराती कोविड मरीज़ों की लाशें दुनिया भर के मीडिया में भारत के लिए शर्मिंदगी का वजह बनीं। सरकार को ऐसी हालत में सबसे ज़्यादा प्राथमिकता अस्पताल और मेडिकल सुविधाएं बढ़ाने पर देना चाहिए था, लेकिन वह अपने पार्टी दफ्तर को चमकाने से ज़्यादा सोच ही नहीं पा रही है। पुनिया ने मांग की है कि प्रदेश सरकार कानपुर में उजाड़े गये पीड़ित परिवारों का पुनर्वास कराये और उन्हें तुरंत आर्थिक सहायता मुहैया कराये। साथ ही उन प्रशासनिक अफसरों पर कार्रवाई भी की जाये जिन्होंने ग़रीबों के घर उजाड़े हैं। उन्होंने कहा कि जनता को उजाड़ने वाली इस सरकार को अगले चुनाव में उखाड़ फेंकने के लिए प्रदेश की जनता ने मन बना लिया है। कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव प्रियंका गाँधी के नेतृत्व में उत्तर प्रदेश एक नयी करवट लेने जा रहा है।