• ब्यूरो

कांग्रेस आतंकवाद को पोषित करने वाली पार्टी है: योगी आदित्यनाथ

हिन्दू नेताओं को फंसाने का षड़यंत्र रचती थी कांग्रेस: योगी

फर्रूखाबाद, सोशल टाइम्स। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि कांग्रेस आतंकवाद को पोषित करने वाली पार्टी है। कांग्रेस सरकार हिन्दू नेताओं, संतों और आरएसएस के लोगों को आतंकी घटनाओं में फंसाने का षड़यंत्र रचती थी। इसे अपने कुकर्मों के लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। यह जब सत्ता में आते हैं तो आतंकियों को बचाने और जब सत्ता से बाहर रहते हैं तो देशविरोधी गतिविधियों में शामिल लोगों का साथ देने का काम करती है।

फर्रूखाबाद में बुधवार को जन विश्वास यात्रा में जनता को सम्बोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेस पर आतंकवादियों को प्रश्रय देने का आरोप लगाकर बड़ा हमला बोला। उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने सर्वाधिक समय तक देश पर शासन किया। यह अपने शासनकाल में हिन्दू नेताओं, संतों और आरएसएस को मालेगांव में हुए आतंकी घटना में फंसाने का षड्यंत्र रचा था। उन्होंने बताया कि महाराष्ट्र एटीएस के एक अधिकारी ने कल खुलासा किया है कि कांग्रेस सरकार मुझ समेत कई हिन्दू नेताओं को मालेगांव आतंकी घटना में फंसाने का दबाव बनाया गया था। आतंकवाद को पोषित करने वाली यह पार्टी को देश से माफी मांगनी होगी। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार में जिस तरह से पाकिस्तान को उसके घर में घुसकर मारने का काम सैनिकों ने किया। यह किसी और सरकार में नहीं किया गया। क्योंकि उन्हें अपना वोट खिसकने का डर था। लेकिन हमारे लिए देश सबसे ऊपर है। देश सुरक्षित है तो हम सुरक्षित हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने जनपद फर्रूखाबाद में 196 करोड़ की 174 विकास परियोजनाओं का लोकार्पण व शिलान्यास एवं जन विश्वास यात्रा की जनसभा में कहा कि हमारी सरकार फर्रूखाबाद को गंगा एक्सप्रेसवे से जोड़ने का काम करेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि साढ़े चार वर्ष में कोई दंगा हमारी सरकार ने नहीं होने दिया। क्योंकि दंगाई जानते हैं कि अगर दंगा किया तो उनके परिवार से नुकसान की भरपाई की जाएगी। पहले सपा सरकार में इन दंगाइयों को सम्मानित किया जाता रहा। अब गरीबों, व्यापारियों और सार्वजनिक सम्पत्तियों को लूटने वाले माफियाओं की अवैध सम्पत्तियों पर सरकार का बुलडोजर चलने में कोई संकोच नहीं होगा।

मुख्यमंत्री ने सपा, बसपा और कांग्रेस को कटघरे में खड़ा करते हुए कहा कि जब हमारी सरकार नहीं थी तो हमसे पूछा जाता था कि रामलला हम आएंगे, मंदिर वही बनाएंगे लेकिन तिथि नहीं बताएंगे।

उन्होंने कहा कि डबल इंजन की सरकार है तो राशन भी डबल मिल रहा है। अच्छी सरकार आएगी तो अच्छी योजनाएं आएंगी। जब बुरी सरकार आएगी तो यही अन्न सपा, बसपा और कांग्रेस की तिजोरी में चला जाएगा। आप देख रहे होंगे किस तरह दीवारों से नोटों की गड्डियां निकल रही हैं। अब समझ में आया कि बबुआ नोटबंदी का विरोध क्यों करता था। गरीबों का पैसा तो दीवालों से निकल रहा है। हमारी सरकार गरीब का पैसा गरीबों को दे रही है, पहले यही पैसा कब्रिस्तान में खर्च कर दिया जाता था।