• ब्यूरो

डीजी डीएस नेगी ने खुद अस्पताल जाकर दी सेवाएं


लखनऊ। शनिवार को स्वास्थ्य महानिदेशक ने सिविल अस्पताल में भर्ती मरीज को सर्जरी से पहले एनेस्थीसिया दिया। इसके बाद मरीज का ऑपरेशन करवाया। ऐसा पहली बार हुआ जब किसी डीजी ने अस्पताल पहुंचकर सेवाएं दी हों।


बाराबंकी के सूरज नामक युवक के बाएं पैर में फैक्चर हुआ था। सिविल अस्पताल में वह आर्थोपैडिक सर्जन डॉ. आरके सिंह की यूनिट में भर्ती हुआ। डॉक्टर ने जांच के बाद ऑपरेशन की सलाह दी। खून व कोविड की जांच कराने बाद शनिवार को ऑपरेशन की डेट मिली। स्वास्थ्य महानिदेशक डॉ. डीएस नेगी को मरीज को बेहोशी देने के लिए बुलाया गया। उन्होंने मरीज को एनेस्थीसिया दिया।


इसके बाद करीब डेढ़ घंटे तक चला ऑपरेशन पूरी तरह सफल रहा। डॉ. नेगी ने बताया कि महानिदेशालय व दूसरे स्थानों पर प्रशासनिक पद पर तैनात डॉक्टर मरीजों को ओपीडी से लेकर ऑपरेशन तक में सेवाएं मुहैया कराएंगे।