• एजेंसी

बहराइच: शिवालय बाग स्थित सभागार में पर्यावरण सुधार हेतु वृक्ष लगाने पर हुई चर्चा


बहराइच (न्यूज़ ऑफ इंडिया) महामना मालवीय मिशन के तत्वावधान में आज (पौराणिक) शिवालय बाग परिसर नानपारा के सभा कक्ष में पर्यावरण , जल संरक्षण विषयक पर परिचर्चा का आयोजन कर समूचे परिक्षेत्र के मंदिर परिसर , विद्यालय परिसर , सार्वजनिक खाली स्थानों व सरयू नदी के तट पर पंचवटी प्रजाति के वृक्षों के रोपण व संरक्षण का सामुहिक संकल्प किया गया। मालवीय मिशन द्वारा आयोजित कार्यक्रम के मुख्य अतिथि परियोजना निदेशक (डीआरडीए) अनिल कुमार सिंह ने कहा कि ,पर्यावरण मानव जीवन के लिए अनिवार्य आवश्यकता है ऐसे में हम सब का दायित्व है कि , सामुहिक रूप से पंचवटी प्रजाति के वृक्षों का रोपण कर उन्हें संरक्षित करें और वातावरण को मानव जीवन के अनुकूल बनाए। मालवीय मिशन अध्यक्ष बहराइच (अवध) व प्रधान संगठन संरक्षक संजीव श्रीवास्तव एडवोकेट ने बताया कि , नानपारा और मिहींपुरवा परिक्षेत्र में स्थित देवालय , शैक्षणिक से संस्थानों , तालाब- पोखरों व सरयू नदी के तटीय इलाकों में पंचवटी प्रजाति के वृक्ष नीम , पीपल , पाकड़ , बरगद व आवंला वृक्षों का रोपण कर उन्हें स्थानीय जन सहयोग से संरक्षित करने का कार्यक्रम तय किया गया है । वर्षाकाल के शुरू होते ही वृक्षारोपण महाअभियान को शुरू किया जायेगा ।

खण्ड विकास अधिकारी बलहा संदीप तिवारी ने बताया कि , विकासखंड के परिक्षेत्र में वृक्षारोपण व उनके संरक्षण की बड़ी कार्ययोजना तैयार की जा रही है और इसके लिए जन-सहयोग कीआवश्यकता है , उन्होंने ग्राम्य जनप्रतिनिधियों का आवाहन किया कि , वे वृक्षारोपण महाअभियान में बढ़-चढ़कर सहभाग करें इससे पर्यावरण व जल संरक्षण में सहयोग मिलेगा । कार्यक्रम का संचालन किसान परिषद जिला महामंत्री शिव पूजन सिंह ने किया।जबकी कार्यक्रम की अध्यक्षता शिवालय बाग महंत वीरेंद्र गिरी जी महाराज ने किया ।

आयोजित परिचर्चा में प्रमुख रूप से समाजसेवी राज त्रिपाठी , अधिवक्ता आत्म प्रकाश श्रीवास्तव , रमेश श्रीवास्तव , ग्राम प्रधान जाबिर , पंचायत सचिव मंशाराम यादव , समाजसेवी के लोहमी आदि लोग उपस्थित रहे । परिचर्चा समापन अवसर पर वृक्षारोपण , जल संरक्षण तथा वृक्षों के संरक्षण का सामुहिक संकल्प लिया गया और मंदिर धर्माचार्य महंत वीरेंद्र गिरी जी महाराज द्वारा समाजसेवी संजीव श्रीवास्तव व परियोजना निदेशक अनिल सिंह तथा बीडीओ बलहा को अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया गया ।