• एजेंसी

मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कार्यक्षमता वृद्धि व्याख्यानमाला का हुआ आयोजन


लखनऊ (न्यूज़ ऑफ इंडिया) मुख्य सचिव की अध्यक्षता में कार्यक्षमता वृद्धि व्याख्यानमाला के अन्तर्गत प्रथम प्रस्तुतीकरण दिया गया। व्याख्यानमाला में एसजीपीजीआई के कार्डियोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ0 आदित्य कपूर ने स्वस्थ हृदय, हृदयाघात से बचाव एवं प्राथमिक चिकित्सा विषय पर प्रस्तुतीकरण दिया।

         अपने संबोधन में मुख्य सचिव ने कहा कि कार्य करने से कोई व्यक्ति बीमार नहीं होता है, बल्कि कार्य का आनंद न लेकर तनाव लेने से बीमार होता है। हर व्यक्ति का जीवन महत्वपूर्ण है, इसलिये सभी को तनावमुक्त रहकर कार्य करना चाहिये।

          उन्होंने कहा कि कार्मिकों की कार्यक्षमता में वृद्धि के लिये व्याख्यानमाला का आयोजन किया जा रहा है। दुर्गा अष्टमी के अवसर पर प्रथम व्याख्यानमाला आयोजित की गई है, जिसमें एसजीपीजीआई के कार्डियोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष को आमंत्रित किया गया है। हृदयाघात से बचाव एवं प्राथमिक चिकित्सा के विषय पर कार्यशाला आयोजित की गई है। यह वार्तालाप आपके जीवन से जुड़ी और बेहद महत्वपूर्ण हैं, इसे ध्यानपूर्वक सुनकर व समझकर अपने जीवन में अमल करें।

          उन्होंने कहा कि आगामी व्याख्यानमाला का आयोजन 4 नवंबर को किया जायेगा, जिसके लिए ब्रह्माकुमारी शिवानी दीदी जी को आमंत्रित किया गया है। जीवन में किस प्रकार तनावमुक्त व स्वस्थ रहकर कार्य करें, इस विषय पर वह महत्वपूर्ण सुझाव देंगी।

          एसजीपीजीआई के डॉ0 आदित्य कपूर ने हृदय के कार्य व हृदय रोग के बारे में विस्तार से जानकारी दी और हार्ट अटैक की स्थिति में बचाव व कार्डियोपल्मोनरी रिससिटेशन (सी0पी0आर0) देने की प्रक्रिया का लाइव डिमास्ट्रेशन दिया। उन्होंने बताया कि हृदय रोग के बारे में जागरूकता व सतर्कता बेहद जरूरी है। हृदय रोग महामारी का रूप ले रही है।

          उन्होंने बताया कि जागरूकता की कमी के कारण कई बार लोगों को हार्ट अटैक से आकस्मिक निधन हो जाता है। हार्ट अटैक आने के बाद पीड़ित व्यक्ति के लिये चंद मिनट बेहद महत्वपूर्ण होते हैं। सी0पी0आर0 देकर जान बचाई जा सकती है। यह एक लाइफ सेविंग टेक्नीक है, जिसका इस्तेमाल हार्ट अटैक (दिल का दौरा) के दौरान किया जाता है। अगर किसी इंसान के दिल की धड़कन बंद हो जाए, तो घर से अस्पताल जाने के दौरान सीपीआर लाइफ सेविंग का कार्य करता है।

          प्रश्नोत्तर काल में डॉ0 आदित्य कपूर ने लोगों की विभिन्न शंकाओं का समाधान भी किया। इस अवसर पर मुख्य सचिव ने सचिवालय के लिये एईडी मशीन क्रय करने के निर्देश दिये।

          कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव सचिवालय प्रशासन हेमन्त राव, अपर मुख्य सचिव कृषि एवं नियुक्ति श्री देवेश चतुर्वेदी, प्रमुख सचिव नगर विकास अमृत अभिजात, प्रमुख सचिव भाषा जितेन्द्र कुमार, प्रमुख सचिव स्वास्थ्य पार्थ सारथी सेन शर्मा, एसजीपीजीआई के असिस्टेंट प्रोफेसर डॉ0 कमलेश, सीनियर एक्सपर्ट गोसाई समेत अन्य वरिष्ठ अधिकारीगण, कार्मिक व पत्रकारगण आदि उपस्थित थे।