• ब्यूरो

भाजपा राज में तबाह हो गए हैं किसान और बुनकर: अखिलेश यादव

भाजपा सरकार ने बिजली भी मंहगी कर दी है...

लखनऊ, सोशल टाइम्स। सोमवार को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में किसान और बुनकर तबाह है। पहले किसानों के मान को गिराना फिर नाम भर के लिए दाम बढ़ा देना, भाजपा का ये चुनावी हथकंडा अब उत्तर प्रदेश में चलने वाला नहीं है। झूठ और नफरत के सहारे भटकाने-बहकाने वाली भाजपा की चालाकी से जनता को सजग कराने के लिए समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को चाहिए कि घर-घर जाकर सघन अभियान में जुट जाएं। भाजपा का अन्याय अब बर्दाश्त नहीं होगा। उन्होंने कहा कि किसानों द्वारा उत्पादित कपास और बुनकरों द्वारा कपड़ा बनाकर बिक्री से भारत की आर्थिक स्थिति मजबूत होती है। भाजपा के कारण दोनों वर्ग संकट में हैं। सरकार की नीतियों ने व्यापार को भी चौपट कर दिया है। महंगाई और भ्रष्टाचार से समाज का हर वर्ग परेशान है। नौजवान का भविष्य अंधकारमय है। सभी त्रस्त, आक्रोशित और आंदोलित हैं। भाजपा ने अपने संकल्प-पत्र के वादों को भी भुलाकर जनता के साथ छल किया है। किसान को एमएसपी नहीं मिली, आय दुगनी करने के वादे का कहीं अता पता नहीं। किसान तीन काले कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग को लेकर दस महीने से धरना-प्रदर्शन कर रहे हैं। भाजपा सरकार उनकी बात नहीं सुन रही हैं बल्कि अपमानित कर रही है।

यादव ने कहा कि बुनकरों की दशा भी दयनीय हो चली है। समाजवादी सरकार में उनको फिक्स बिजली चार्ज देना पड़ता था। भाजपा सरकार ने बिजली मंहगी कर दी है। खुद एक यूनिट बिजली उत्पादन न करने वाली भाजपा सरकार के समय लोग बिजली कटौती झेल रहे हैं। पावरलूम बुनकरों का धंधा ही चौपट हो गया है। भाजपा जाते-जाते गन्ना किसानों के बकाये का ब्याज न सही मूल ही चुका दे तो बड़ी बात होगी। ब्याज अदायगी की बात तो अब भाजपा नेता भूलकर भी नहीं करते हैं। किसानों से क्रय केन्द्रों में अपमान जनक व्यवहार किया जाता है। एमएसपी पर खरीद न होने से किसान को अपना अनाज बिचौलियों को औने-पौने दाम पर बेचना पड़ता है। उन्होंने कहा कि देश के अन्नदाता का सम्मान न करने वाली दम्भी भाजपा सत्ता में बने रहने का नैतिक अधिकार खो चुकी है। किसान आंदोलन भाजपा के अन्दर टूटन का कारण बनने लगा है। छह माह बाद समाजवादी सरकार बनते ही राज्य की पीड़ित जनता के साथ कोई अन्याय नहीं कर सकेगा? सन् 2022 में समाजवादी सरकार किसानों का सच्चा मान बढ़ायेगी और गन्नें की मिठास और दाम भी।