• ब्यूरो

डरावने रहे भाजपा सरकार के साढ़े चार साल: अखिलेश यादव

सरकार के पास बताने के लिए एक भी उपलब्धि नहीं ...

लखनऊ, सोशल टाइम्स। रविवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने कहा है कि उत्तर प्रदेश के लिए भाजपा सरकार के साढ़े चार साल निराशा भरे और डरावने रहे हैं। यह एक नान स्टार्टिंग सरकार है जबकि इसमें डबल इंजन लगा है। सिकयार्ड में खड़े इस भाजपाई इंजन की आवाज भी किसी को सुनाई नहीं पड़ रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार के सत्ता में अब केवल छह महीने बचे हैं। अब तक एक भी वादा पूरा न करने वाली और सिर्फ सरकारी विज्ञापनों के खम्भो पर टिकी भाजपा सरकार चुनावी रणनीति के तहत लोक लुभावन सौगातें परोसने में लग गई है। उद्घाटन, शिलान्यास के अलावा अन्य घोषणाओं की बौछार करते समय मुख्यमंत्री जी यह भूल जाते हैं कि जनता भलीभांति समझती है कि जो काम और वादे साढ़े चार साल में नहीं पूरे हुए उन्हें छह माह में किस चमत्कार से पूरा कर दिया जाएगा? उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार ने आज 16 पेज के 16 आने झूठ की पुस्तिका बंटवाई है। लगता है कि भाजपा ने अपने अन्तर्राष्ट्रीय झूठ प्रशिक्षण केन्द्र की पाठ्य पुस्तिका प्रकाशित की है। परन्तु भाजपा के ‘झूठ के दूत‘ इसे ऑनलाइन कक्षाओं में ही चला सकेंगे क्योंकि जनता के बीच जा नहीं पा रहे हैं।

यादव ने कहा कि अभी तक तो भाजपा सरकार के पास बताने के लिए एक भी उपलब्धि नहीं है क्योंकि उन्होंने कोई काम नहीं किया सिर्फ समाजवादी सरकार के कामों पर ही अपने नाम की पट्टी लगाई है और नाम ही बदले हैं। एक भी ऐसा कोई काम नहीं जिसका शिलान्यास करने के बाद उन्होंने उद्घाटन भी किया हो। हां भाजपा सरकार में एक काम बड़ी चतुराई से हुआ है और वह है बजट खुर्द-बुर्द करना। जनहित में गिनाने लायक एक भी योजना नहीं। हां एक काम के लिए मुख्यमंत्री जी को याद कर सकते हैं कि उन्होंने जनता के सपनों को तोड़ने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। भाजपा ने सन् 2017 में जो संकल्प लिए थे, साढ़े चार वर्ष में अपने उस संकल्प पत्र के पन्ने भी पलट कर नहीं देखे। जनता को भाजपा धोखे पर धोखा देती रही है। महिलाओं, दलितों, पिछड़ों को अपमानित करना भाजपा का एजेंडा है। कानून व्यवस्था का उसने मजाक बनाकर रख दिया हैं लोकतंत्र के साथ छल करके भाजपा संविधान के मूलाधार पर ही प्रहार कर रही है। उन्होंने कहा कि किसान, गरीब, महिला, युवा पर अत्याचार, बेरोजगारी, मंहगाई बेलगाम, वादा खिलाफी और बढ़ता हुआ भ्रष्टाचार इस सबसे त्रस्त और आक्रोशित सभी वर्ग अब भाजपा से पिंड छुड़ाना चाह रहे हैं। जनता को अब नफरत और ठप्प कारोबार के सौदागरों में कोई आकर्षण नहीं रह गया है। जुमलेबाज भाजपा सरकार के दिन अब बीत गए हैं। सन् 2022 में समाजवादी पार्टी प्रदेश में सत्तारूढ़ होकर कल्याणकारी राज्य की अवधाराणा को पूरा करेगी।