• ब्यूरो

मैंने ईमानदार पत्रकारों की एक सूची बनाई है: अखिलेश

कारसेवकों पर गोली चलाई होती तो एफआईआर नेताजी पर होती...

लखनऊ, सोशल टाइम्स। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा कि मैंने ईमानदार पत्रकारों की एक सूची बनाई है। सोमवार को एक निजी चैनल के इंटरव्यू में उन्होंने कहा कि जबसे रथ चलना रुका है तबसे मैंने ईमानदार पत्रकारों की एक सूची बनायीं है। उन्होंने कहा कि यूपी की जनता भाजपा को राधे राधे कहने के लिए तैयार हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री पर आरोप लगते हुए कहा कि वह योगी नहीं उपयोगी है। उन्होंने गंगा में डुबकी इसलिए नहीं लगाई क्यूंकि वो जानते थे कि इसी में लाशें बही हैं और ये पानी पीने लायक नहीं है। सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा अपना परिवार वाद क्यों नहीं बताती है। कर्नाटक में जो मुख्यमंत्री बने हैं उनके पिताजी क्या थे। इन लोगो को अपना परिवारवाद नहीं दिखाई देता है। यूपी में दिल्ली के मंत्री को टिकट मिल जाता है, एक और सीएम रहे, उनके परिवार के दो-दो लोग टिकट पाते हैं। जिन्हे परिवार का दुःख दर्द नहीं पता वो परिवार वाद की बात ना करें। कोरोना काल में विपक्ष पर लगाए गए आरोपो का खंडन करते हुए सपा अध्यक्ष ने कहा कि जब सपा कार्यकर्त्ता निकल रहे थे तो उनपर कोविड के मुक़दमे लगाए जा रहे थे। और ये ज़िम्मेदारी मुख्यमंत्री की है कि अपने प्रदेश की जनता की परेशानियां दूर करें। उन्होंने कहा कि अगर हमने कारसेवकों पर गोली चलाई होती तो एफआईआर नेताजी पर होनी चाहिए थी, लेकिन एफआईआर उन पर हुई, जिन्होंने मस्जिद गिराई थी. नेताजी ने संविधान बचाने का काम किया था।

अखिलेश यादव ने कहा कि भारतीय जनता पार्टी को जनता इस बार साफ कर देगी। भाजपा ने किसानों से धोखा किया है। उनकी आय दोगुनी करने के नाम पर महज धोखा किया है। खाद, पानी, बीज सहित हर चीज महंगी हो गई है। उन्होंने इस दौरान भाजपा पर निशाना साधते हुए कई आरोप लगाए। हम विकास की राजनीति करते हैं। उत्तर प्रदेश में 80 प्रतिशत लोग भारतीय जनता पार्टी से नाराज हैं। भाजपा ने प्रदेश में अल्पसंख्यकों का अपमान किया है। यादव ने कहा कि हम प्रदेश में लैपटॉप वितरित करेंगे। प्रदेश में नए एक्सप्रेस वे बनाएंगे। हमने अस्पताल बनाए, सबसे बेहतरीन रिवर फ्रंट बनाए। समाजवादी पार्टी एजुकेशन सेक्टर, स्वास्थ्य व्यवस्था, बिजली व्यवस्था सहित प्रदेश के सभी जरूरी मुद्दों पर काम करेगी। इसके साथ ही उन्होंने आरोप लगाया कि मौजूदा प्रदेश सरकार ने राज्य का खजाना खाली कर दिया है।

वही सोमवार को बयान जारी कर सपा अध्यक्ष ने कहा कि भाजपा ऐसा राजनीतिक दल है जो सिर्फ चुनाव लड़ता है, विकास तथा जनहित से उसका तनिक भी लेना देना नहीं है। भाजपा की रणनीति चुनाव को जटिल बनाने और सरकारी मशीनरी का दुरूपयोग कर चुनाव की निष्पक्षता को प्रभावित करने की है। लोकतंत्र में भाजपा का आचरण हर तरह से अमर्यादित और लोकलाज से परे है। भाजपा ने किसानों, नौजवानों के भविष्य को रौंदने का काम किया है। वह भ्रमजाल फैलाने में माहिर है। विकास समाजवादी सरकार ने किया, भाजपा बिना कुछ काम किए अपने झूठे दावे कर रही है। मुख्यमंत्री जी के पास गिनाने को अपना एक काम नहीं है। उनके रिपोर्ट कार्ड में ध्वस्त कानून व्यवस्था, महिलाओं के साथ दुष्कर्म की बढ़ती घटनाएं, स्वास्थ्य क्षेत्र की बदहाली, शिक्षा में अव्यवस्था, महंगाई और भ्रष्टाचार है। नीति आयोग भाजपा सरकार को कई क्षेत्रों में फिसड्डी घोषित किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा की रैलियों में सरकारी साधनों का पूरी तरह दुरुपयोग करने के बाद भी समाजवादी विजय रथ यात्रा का भाजपा मुकाबला नहीं कर सकी। सपा की सफल रैलियों से डरी भाजपा अब साजिशों में जुट गई है। एक समाजवादी रथ छह भाजपाई रथों पर भारी पड़ गया है। जनता का प्रबल समर्थन समाजवादी पार्टी को मिला है।