• ब्यूरो

आधे अधूरे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन सिर्फ चुनावी इवेंट की तैयारी: संजय सिंह

लखनऊ, सोशल टाइम्स। शुक्रवार को कांग्रेस प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा कि तारीख पर तारीख देने के बाद भी पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का काम पूरा नहीं हुआ है। 2022 के विधानसभा चुनाव को देखते हुए आधे अधूरे पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने जा रही है भाजपा सरकार । पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर काम पूरा नहीं हुआ है और उद्घाटन के बाद जब यह जनता के लिए चालू कर दिया जाएगा तो एक्सीडेंट होने की संभावनाएं बहुत अधिक होंगी । मगर भाजपा सरकार के पास साढे़ 4 साल में अपनी उपलब्धि बताने और दिखाने के लिए कुछ नहीं है तो जनता को भ्रमित करने के लिए अर्ध निर्मित पूर्वांचल एक्सप्रेस वे का उद्घाटन करने जा रही है भाजपा सरकार । जबकि इससे पहले पूर्व सरकार पर आधे अधूरे कामों का उद्घाटन करने पर उपहास उड़ाती थी भाजपा । संजय सिंह ने कहा कि 2022 चुनाव को देखते हुए पूर्वांचल एक्सप्रेस वे पर राफेल का शो होगा। एक तरफ राफेल डील पर भ्रष्टाचार के तमाम आरोप लगे हैं । राफेल डील में कमीशन दिए जाने और 3 गुने दाम पर राफेल की खरीदारी जैसे भ्रष्टाचार के सवालों पर सरकार जवाब नहीं दे रही है । दूसरी तरफ चीन लद्दाख के बाद अरुणाचल प्रदेश की सीमा के अंदर गांव बसा चुका है, मगर प्रधानमंत्री एकदम चुप हैं। ना ही वह भ्रष्टाचार के सवालों पर जवाब दे रहे हैं और ना ही चीन को उसी की भाषा शैली में जवाब दे पा रहे हैं।

भाजपा कहती है कि उत्तर प्रदेश में डबल इंजन की सरकार है मगर चाहे मोदी सरकार हो या उत्तर प्रदेश की सरकार कोई भी विपक्ष या जनता के सवालों पर जवाब देने को तैयार नहीं। एक तरफ महंगाई, बेरोजगारी चरम पर है वहीं दूसरी ओर महिलाएं असुरक्षित है, कानून व्यवस्था चौपट है एवं उत्तर प्रदेश की पुलिस बेलगाम हो चुकी है, किसान महंगी खाद, बिजली और सिंचाई की वजह से अपनी फसल की लागत नहीं निकाल पा रहा है दूसरी तरफ चीन द्वारा लगातार सीमाओं पर अतिक्रमण हो रहा है मगर केंद्र सरकार चुप है और उत्तर प्रदेश सरकार पिछले साढ़े 4 साल में किए हुए कामों को बताने के बजाय विपक्ष से ही अनर्गल सवाल कर रही है। जिसको जनता समझ चुकी है और 2022 के चुनाव में भाजपा सरकार को उखाड़ फेंकने का मन बना चुकी है।

Recent Posts

See All

लखनऊ (न्यूज़ ऑफ इंडिया) किसानों के अधिकार सम्मान के लिए संघर्षरत राष्ट्रीय अन्नदाता यूनियन द्वारा यूनियन को सदस्यता अभियान चलाकर मजबूती प्रदान करने का कार्य लगातार किया जा रहा है । इसी क्रम में यून