• एजेंसी

प्रदेश की जनता को सुरक्षा व सुविधा प्रदान करना राज्य सरकार का दायित्व : मुख्यमंत्री


लखनऊ (न्यूज़ ऑफ इंडिया) उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अपराध किसी भी प्रकार का हो, वह अक्षम्य है। विशेषकर महिला सम्बन्धी अपराध के प्रति प्रदेश सरकार अत्यन्त संवेदनशील है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता को सुरक्षा व सुविधा प्रदान करना राज्य सरकार का दायित्व है। प्रदेश सरकार की अपराध एवं अपराधियों के प्रति जीरो टॉलरेंस की नीति है। राज्य सरकार द्वारा बिना किसी भेदभाव के अपराध व अपराधियों के विरुद्ध कार्रवाई की जा रही है। महिला सुरक्षा, प्रदेश के 25 करोड़ लोगों की सुरक्षा, कानून-व्यवस्था के विषय सरकार की प्राथमिकता के बिन्दु हैं। राज्य सरकार जीरो टॉलरेंस के साथ इन सब विषयों पर कार्य करेगी।

मुख्यमंत्री मंगलवार को विधान सभा में अपने विचार व्यक्त कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वर्ष 2017 में प्रदेश सरकार ने सत्ता में आते ही महिला अपराधों को रोकने के लिए ‘एण्टी रोमियो स्क्वॉयड’ का गठन किया। साथ ही, 218 फास्ट ट्रैक कोर्ट की स्थापना की गई है। विगत 05 वर्षों में लूट, हत्या, महिला सम्बन्धी अपराध, डकैती सहित विभिन्न प्रकार की आपराधिक घटनाओं में भारी गिरावट आयी है। अपराधियों/माफियाओं की 2,000 करोड़ रुपए से अधिक की अवैध सम्पत्ति जब्त की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में बेहतर कानून व्यवस्था के दृष्टिगत चुनाव शान्तिपूर्वक सम्पन्न हुए। उन्होंने कहा कि विगत 05 वर्ष में कानून व्यवस्था के बेहतर माहौल ने राज्य सरकार को पुनः जनसमर्थन दिलाया। रामनवमी और हनुमान जयन्ती सहित सभी पर्व एवं त्योहार सौहार्दपूर्ण ढंग से मनाए गए। प्रदेश में विगत 05 वर्षों में कोई भी दंगा नहीं हुआ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि इतिहास में पहली बार प्रदेश में अलविदा की नमाज़ सड़कों पर नहीं हुई। शान्तिपूर्ण तरीके से पर्व एवं त्योहार मनाए गए। उन्होंने शान्ति एवं सौहार्द के इस अभियान को आगे बढ़ाने के लिए धर्मगुरुओं को धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब तक 01 लाख से अधिक माइक उतारे जा चुके हैं। यह सब पहले भी हो सकता था, किन्तु पिछली सरकारों में इच्छाशक्ति नहीं थी। उत्तर प्रदेश की कानून व्यवस्था को आज एक नजीर माना जा रहा है।