• ब्यूरो

माना जा रहा था कैलिफोर्नियम निकला सल्फर, आयरन, सिलिकॉन और कार्बन का मिश्रण


लखनऊ। बीती 28 मई को पुलिस ने आठ लोगों से एक पदार्थ बरामद किया था। जिसे कैलिफोर्नियम माना जा रहा था। लेकिन जांच में वह सल्फर, आयरन, सिलिकॉन और कार्बन का मिश्रण निकला। कानपुर के आईआईटी से मंगलवार को इसे लेकर जांच रिपोर्ट जारी की। प्रभारी निरीक्षक गाजीपुर प्रशांत कुमार मिश्रा के मुताबिक मंगलवार को आईआईटी कानपुर के वैज्ञानिकों व प्रशासनिक अधिकारियों के निर्देश पर पहुंची पुलिस टीम ने रिपोर्ट हासिल की। इसमें वैज्ञानिकों ने स्पष्ट किया कि ठगों से बरामद धातु कैलिफोर्नियम नहीं है। उन्होंने बताया कि उच्चाधिकारियों को भी रिपोर्ट भेज दी गई है। पॉलिटेक्निक चौराहे पर पुलिस टीम ने ठगों के गिरोह के आठ लोगों को गिरफ्तार किया था। इनसे बरामद पदार्थ को ठगों ने कैलिफोर्नियम बताया था। जो की विश्व की दूसरी सबसे महंगी धातु है। इसकी सत्यता परखने के लिए बीरबल साहनी इंस्टीट्यूट के वैज्ञानिकों से संपर्क किया। जांच के लिए पदार्थ को कानपुर की आईआईटी लैब भेजा गया। परीक्षण के बाद पता चला कि बरामद पदार्थ कैलिफोर्नियम है ही नहीं।