• एजेंसी

महिलाओं को पानी जांच का प्रशिक्षण दे रहे प्रतिनिधियों  की समीक्षा बैठक में पहुंचे जलशक्ति मंत्री



लखनऊ (न्यूज़ ऑफ इंडिया) प्रदेश के राजस्व गांव में पांच-पांच महिलाओं को दी जा रही पानी की गुणवत्ता जांच की ट्रेनिंग हर हाल में 30 जुलाई तक पूरी कर ली जाए। ट्रेनिंग देने वाले संगठनों की नियमित मॉनीटरिंग कल से ही शुरू की जाए। इस तरह के निर्देश जलशक्ति मंत्री स्वतंत्र देव सिंह ने सोमवार को नामामि गंगे एवं ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के गोमतीनगर स्थित कार्यालय में दिये। वे यहां राज्य में पानी की जांच का प्रशिक्षण देने वाले संगठनों के प्रतिनिधियों की समीक्षा बैठक में हिस्सा लेने पहुंचे थे। बैठक में विभाग के राज्य मंत्री रामकेश निषाद, नामामि गंगे और ग्रामीण जलापूर्ति विभाग के प्रमुख सचिव अनुराग श्रीवास्तव भी मौजूद रहे।


बैठक में जलशक्ति मंत्री ने सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों से कई सवाल किये। जैसे वो ट्रेनिंग कैसे कराते हैं, कितने-कितने बैच में ट्रेनिंग दी जाती है, विषय क्या रहते हैं। विभाग की ओर से आपकी समीक्षा होती है या नहीं। जलशक्ति मंत्री ने बैठक में उपस्थित प्रतिनिधियों से कहा कि आपको पसीना बहना है, अगर पसीना नहीं बहा सकते हैं तो पहले ही बता दीजिये। उन्होंने कहा कि हम राष्ट्र के लिए काम कर रहे हैं। 50 साल के जीवन को आप बचाने जा रहे हैं कोई अहसान नहीं कर रहे हैं। जलशक्ति मंत्री ने कहा कि स्वप्रेरणा से काम करने वाला हमारा विभाग है। हमको जन-जन तक शुद्ध पानी व्यवस्थित रूप से पहुंचाना है। उन्होंने प्रतिनिधियों से फील्ड में आने वाली समस्याएं पूछने के बाद कहा कि कल से पानी की ट्रेनिंग देने वाले संगठनों की नियमित मॉनीटरिंग विभाग की ओर से की जाएगी।  


’उद्घाटन और समापन में मौजूद रहेंगे स्थानीय अधिकारी जलशक्ति मंत्री’ ने संस्था के प्रतिनिधियों से कहा कि अब से ट्रनिंग देने वाली संस्थाएं एक सप्ताह पहले विभाग को ट्रेनिंग की तिथि, प्रशिक्षण के सबजेक्ट, प्रशिक्षण का समय का पूरा चार्ट भेजेंगे। ट्रेनिंग के उदघाटन और समापन में एक जनप्रतिनिधि और एक स्थानीय अधिकारी मौजूद रहेंगे। विभाग के अधिकारी ट्रेनिंग देने वालों से वर्चुअल जुड़ेंगे। अनुशासन का ध्यान रखा जाएगा।


’ट्रेनिंग प्रोग्राम में अनुशासन का रखें ध्यान स्वतंत्र देव सिंह’ जलशक्ति मंत्री ने निर्देश दिये कि जहां कार्यक्रम हो रहा है वहां दरी, पंखा अवश्य रहे। उन्होंने कहा कि संगठन 200 महिलाओं को दिये जा रहे प्रशिक्षण के उदघाटन और समापन सत्र का वीडियो व्हाट्सएप पर विभाग को भेजेंगे। जलशक्ति मंत्री ने कहा कि वो किसी भी दिन अचानक वीडियो देख सकते हैं।