• ब्यूरो

यूपी में बदहाल कानून व्यवस्था, चमरमराया प्रशासन और आसूं बहाती जनता: दिनेश सिंह


लखनऊ। आम आदमी पार्टी के नेता दिनेश सिंह पटेल ने आदित्यनाथ सरकार को आड़े हाथों लेते हुए प्रदेश की बदहाल व्यवस्था और चरमरा चुके प्रशासन पर तीखी टिप्पणि की है। उन्होंने कहा है कि अमीर हो या गरीब प्रदेश में कोइ भी सुरक्षित और सुखी नहीं है। सरकार ने अपने मनमाने रवैए और हिटलरशाही फैसलों से सबको परेशान कर रखा है। हालत इतनी खराब हो चुकी कि बुजुर्गों को उनके बुढ़ापे में पेंशन मिल पाना मुश्किल हो रही है। किसानों की हत्या हो रही है और महिलाओं के साथ रोजाना दुष्कर्म की घटनाएं बढ़ रही है। प्रदेश सरकार इनपर कोई नियंत्रण नहीं कर पा रही है।   आप  नेता दिनेश सिंह पटेल ने कुछ घटनाओं का खुलासा करते हुए कहा कि कानपुर में आधार कार्ड के सत्यापन में विभागीय कर्मचारियों की धीमी रफ्तार का खामियाजा 54 हजार बुजुर्गोँ को भुगतना पड़ रहा है। उनको बुढापे का सहारा उनकी पेंशन नहीं मिल पा रही है। ये सभी बुजुर्ग विभागों के चक्कर काट रहे हैं। बांदा में बहन से अभद्रता का विरोध करने पर युवक की हत्या कर दी जाती है। इस तरह की एक नहीं अनेक घटनाएं हैं। पीलीभीत की महिला से भाजपा नेता और उसके नेता खुलेआम दुष्कर्म करते हैं और सरकार चुप बैठी रहती है। मथुरा में खेत पर चरी की रखवाली करने वाले किसान की बेहरमी से हत्या हो जाती है। अपराधों का बढ़ता ग्राफ बताता है कि आदित्यनाथ सरकार पूरी तरह से कानून व्यवस्था संभाल पाने में फेल साबित हो चुकी है। उसका अपने अधिकारियों पर भी कोई वश नहीं रहा है। प्रशासन मनमानी कर लोगों को केवल परेशान कर रहा है। दिनेश सिंह पटेल ने योगी सरकार से तत्काल कानून व्यवस्था को दुरुस्त करने और प्रशासन को चुस्त करने की मांग की है। जिससे प्रदेश की जनता सुरक्षित माहौल में जीवन शांति प्रिय जीवन यापन कर सके।