• ब्यूरो

मंडल कमीशन को पूर्ण रूप से लागू कराये जाने को लेकर राष्ट्रपति के नाम सौंपा ज्ञापन

Updated: Aug 8

समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ ने मनाया मंडल दिवस

लखनऊ, सोशल टाइम्स। शनिवार को मंडल दिवस के अवसर पर समाजवादी पार्टी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ ने मंडल कमीशन को पूर्ण रूप से लागू कराये जाने को लेकर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन सौंपा। 07 अगस्त 1990 को “मण्डल कमीशन" की रिपोर्ट लागू करने की घोषणा हुई थी, इसी कारण समाजवादी पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ ने 07 अगस्त को मंडल दिवस के रूप में मनाया।

पिछड़ा वर्ग प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष डॉ राजपाल कश्यप ने बताया कि दुर्भाग्यवश पिछड़ी जातियों के उत्थान के लिए गठित मंडल कमीशन की समस्त संस्तुतिया अब तक लागू नही की गयी है जिसके चलते इन वर्गों को उचित हिस्सेदारी नहीं मिल पाई है। अतः मंडल दिवस पर मण्डल आयोग की सिफारिशों की चर्चा करते हुए लोगों को जागरूक किया गया तथा जिलाधिकारी के माध्यम से महामहिम राष्ट्रपति को मण्डल आयोग की समस्त सिफारिशों को लागू करने हेतु संबोधित ज्ञापन दिया गया। ज्ञापन में कहा गया कि समाजवादी पार्टी 7 अगस्त 2021 को 'मण्डल दिवस' के रूप में मन रही है। वर्तमान भाजपा सरकार द्वारा संविधान की मूल भावना के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, आरक्षण समाप्त किया जा रहा है, पिछड़े, दलित, आदिवासी अल्पसंख्यक और महिलाओं के साथ बर्बरतापूर्वक अन्याय और अत्याचार चरम सीमा पर है। सरकार की गलत नीतियों के चलते पिछड़े आदिवासी अल्पसंख्यकों के अधिकार खतरे में है। उत्तर प्रदेश के तत्कालीन मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव ने मण्डल कमीशन की नौकरियों और शिक्षण संस्थाओं में 27 प्रतिशत आरक्षण लागू किया था। उस 27 प्रतिशत आरक्षण में भी वर्तमान सरकार पिछड़ों की अनदेखी कर रही है। अतः आपसे सादर अनुरोध है कि मण्डल कमीशन की सभी सिफारिशें लागू करते हुए पिछड़ों के हक और सम्मान की रक्षा हेतु आप द्वारा आवश्यक दिशा निर्देश जारी किया जाए। इस दौरान समाजवादी पार्टी युवजन सभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव, लखनऊ बार एसोसिएशन के महामंत्री जितेंद्र सिंह यादव 'जीतू', सपा जिला अध्यक्ष जय सिंह जयंत, शैलेन्द्र वर्मा समेत बड़ी संख्या में नेता व कार्यकर्त्ता उपस्थित रहें।