• संवाददाता

मंत्री कपिल देव ने 59 सहायक भण्डारी को वितरित किया नियुक्ति पत्र


लखनऊ। प्रदेश सरकार द्वारा युवाओं को तकनीकी प्रशिक्षण देकर उन्हें आत्मनिर्भर एवं रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। कौशल विकास के माध्यम से भी विभिन्न प्रकार के कोर्स संचालित किये जा रहे है, जिसमे युवाओ को कौशल प्रशिक्षण देने का कार्य किया जा रहा है। यें बातें प्रदेश के राज्य मंत्री (स्वंतत्र प्रभार) व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास ने स्मार्ट डेसबोर्ड के शुभारम्भ तथा सहायक भण्डारी के नियुक्ति पत्र वितरण के समय कही गयी। उन्होंने कहा कि नई शिक्षा नीति के अन्तर्गत इण्टरमीडिएट, डिग्री कालेजों में भी कौशल विकास के कार्यक्रम संचालित किये जायेंगे। जिससे पढ़ाई के साथ-साथ कौशल का भी विकास किया जायेगा। उन्होंने कहा कि युवाओं को विदेशी भाषाओं का भी ज्ञान दिया जायेगा, जिससे कि विदेशों मे भी जाने के अवसर उन्हें मिल सकेंगे। अग्रवाल प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय लखनऊ में विश्वकर्मा तकनीकी उन्नयन कार्यक्रम के अन्तर्गत विभागीय गतिविधियों की मानीटरिंग करने के लिए बनाये गये स्मार्ट डेशबोर्ड का शुभारम्भ किया। उन्होंने कहा कि स्मार्ट डेशबोर्ड के बनने से प्रदेश की सभी आईटीआई की मानीटरिंग की जा सकेगी। उन्होने बताया कि स्मार्ट डेशबोर्ड के माध्यम से कितने छात्रों का प्रवेश हुआ, कितने छात्रों को प्रशिक्षण हुआ, कितने छात्रो को रोजगार मिला इसको देखा जा सकेगा। उन्होंने बताया कि इसके अलावा स्मार्ट डेशबोर्ड के माध्यम से आईटीआई मे होने वाले रोजगार मेलों की भी मानीटरिंग की जा सकेगी। डैश-बोर्ड को स्वयं चलाकर देखा और उसके संचालन पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुये विभागीय अधिकारियों को शुभकामनायें दीं। अग्रवाल ने प्रशिक्षण एवं सेवायोजन निदेशालय लखनऊ में 59 सहायक भण्डारी को नियुक्ति पत्र का भी वितरण किया। उन्होंने नवनियुक्त सहायक भण्डारियों को बधाई देते उनके उज्जवल भविष्य कामना की। उन्होंने नवनियुक्त सहायक भण्डारियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि कार्य करते समय अपने अन्दर विश्वास बनाये रखे। उन्होंने कहा कि अपने अधीनस्थ एवं अधिकारियों के साथ तालमेल बैठाकर कार्यों का सम्पादन करे। विभाग में एक महत्वपूर्ण जिम्मेदारी दी गयी, जिसका निर्वाहन पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी के साथ करें, इसमे किसी प्रकार की लापरवाही या शिथिलता न बरते। प्रमुख सचिव व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास सुभाष चन्द्र शर्मा ने कहा कि व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास द्वारा युवाओं को प्रशिक्षण देकर उन्हें रोजगार से जोड़ने का कार्य किया जा रहा है। विभाग समाज के लिये स्किल्ड वर्क-फोर्स को तैयार करता है और ये स्किल्ड वर्क-फोर्स जो हम सभी की रोजमर्रा की जिन्दगी के विभिन्न कार्यों को बड़ी ही कुशलता से पूरा करता हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार के व्यावसायिक शिक्षा एवं कौशल विकास विभाग द्वारा प्रदेश की विशाल युवा आबादी को कौशल व तकनीकी प्रशिक्षण के माध्यम से हुनरमंद बनाने का कार्य किया जा रहा है। युवाओं को कौशल व तकनीकी प्रशिक्षण आईटीआई व उ.प्र. कौशल विकास मिशन द्वारा संचालित प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से प्रदान कराया जा रहा है। प्रदेश सरकार द्वारा विगत माह में प्रदेश के विकास से सम्बन्धित आगामी 100 दिवस 06 माह, 02 व 05 वर्ष की कार्य योजना को स्वीकृत किया गया है। विभाग की 100 दिवस व 06 माह की कार्य योजना में "विश्वकर्मा तकनीकी उन्नयन कार्यक्रम" को संचालित करने के निर्देश दिये गये है। इस कार्यक्रम के अन्तर्गत किये जाने वाले विभिन्न कार्यों में से प्रमुख कार्य "विभागीय गतिविधियों के अनुश्रवण हेतु स्मार्ट डैशबोर्ड का विकास एवं संचालन" को मंत्री जी द्वारा लोकार्पित किया गया है। स्मार्ट डैशबोर्ड के संचालित होने से विभाग की प्रमुख गतिविधियों का नियमित अनुश्रवण किया जा सकेगा। विभाग के अधीन संचालित राजकीय आईटीआई में सहायक भण्डारी के पद पर चयनित हुये अभ्यर्थियों को नियुक्ति पत्र वितरित किया गया है। उन्होंने नव नियुक्त अभ्यर्थियों का विभागीय परिवार में स्वागत करते हुए आशा की है कि आप सभी अपने सम्पूर्ण सेवा काल में पूरी निष्ठा, लगन व ईमानदारी से अपने कार्यों को सम्पादित करेंगे ।