• ब्यूरो

हमारी और जयंत चौधरी की दोस्ती बहुत मजबूत है, इसी से भाजपा बौखलाई हुई है: अखिलेश

अखिलेश और जयंत ने की गठबंधन प्रत्याशियों को जिताने की अपील

शामली, सोशल टाइम्स। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव कहा कि हमारी और जयंत चौधरी की दोस्ती बहुत मजबूत है, लोग हमारी एकता और भाईचारा को पसंद कर रहे हैं, इसी से भाजपा बौखलाई हुई है और परेशान है। किसान, नौजवान व्यापारी, भाजपा की नकारात्मक राजनीति को हटाना चाहते हैं। जनता में भाजपा को लेकर आक्रोश और तिरस्कार है। अखिलेश यादव एवं राष्ट्रीय लोक दल के अध्यक्ष जयंत चौधरी ने शामली में सम्पन्न संयुक्त प्रेसवार्ता में बुधवार को मतदाताओं से गठबंधन प्रत्याशियों को जिताने की अपील की। दोनों नेताओं ने कांधला, ऐलम, बड़ौत, बागपत और गाजियाबाद जिले के लोनी में गठबंधन प्रत्याशियों के पक्ष में जनसम्पर्क का कार्यक्रम भी है। उन्होंने कहा है कि उत्तर प्रदेश का विधान सभा चुनाव भाईचारा बनाम भाजपा है। भाजपा नकारात्मक राजनीति कर रही है। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी गठबंधन की सरकार बनेगी तो 300 यूनिट बिजली फ्री मिलेगी, सिंचाई माफ होगी, पुरानी पेंशन बहाल होगी, छात्रों को लैपटॉप मिलेगा, माताओं, बहनों को हर साल 18 हजार रू0 समाजवादी पेंशन दिया जाएगा। गन्ना किसानों के लिए अलग से कार्पस फंड बनाया जाएगा, जिससे गन्ना किसानों को 15 दिन के अंदर भुगतान हो जाए। गांव स्तर तक रनिंग ट्रैक बनेगा।

अखिलेश ने कहा कि इससे पहले जनता में इतना आक्रोश किसी पार्टी के लिए नहीं था। आज भाजपा के नेता जिस गांव में जा रहे हैं, वहां आक्रोशित जनता इन्हें पसंद नहीं करती है। केंद्रीय बजट को लेकर भाजपा सरकार पर निशाना साधते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा कह रही है, कि यह अमृत बजट है, तो क्या जो अब तक पिछले बजट आए थे, वे जहर थे। इस बजट में हीरे सस्ते किए गए हैं, लेकिन गरीबों और मध्यम वर्ग के लिए कुछ नहीं है। उन्होने कहा कि समाजवादी पार्टी गठबंधन ने जो वादे किए हैं, सब पूरे किए जाएंगे। हम लोग उम्मीद लेकर आए हैं जबकि भाजपा डरा कर चुनाव लड़ना चाहती है। हम भरोसा दिलाते हैं कि भाजपा सरकार में बर्बाद हुई कानून व्यवस्था को मजबूत करेंगे, फोर्स बढ़ाएंगे, डायल 100 की गाड़ियों को और बढ़ाएंगे, पुलिस रिस्पांस सिस्टम को और बेहतर बनाएंगे। कानून व्यवस्था के साथ खिलवाड़ करने वालों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई होगी। गठबंधन के प्रत्याशियों को ऐतिहासिक मतों से जिताने की अपील करते हुए श्री अखिलेश यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री जी जिस तरह की भाषा बोल रहे हैं, उस पर चुनाव आयोग को नोटिस लेना चाहिए। एक संवैधानिक पद पर बैठा व्यक्ति इस तरह की भाषा नहीं बोल सकता है।

जयंत चौधरी ने कहा कि जो लोग आज किसानों को बांटने की कोशिश कर रहे हैं, उन्होंने कभी सम्मान नहीं दिया। नौजवानों को रोजगार नहीं दिया। आज सभी जाति, वर्ग का समर्थन गठबंधन के साथ है। नौजवान उम्मीद और विश्वास के साथ गठबंधन के साथ खड़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार ने केंद्रीय बजट में किसानों और रोजगार सृजन के लिए कुछ नहीं दिया है। कोरोना काल में बड़ी संख्या में मजदूर लौटे जिससे नरेगा जैसी योजना की डिमांड बढ़ गई। लेकिन इस सरकार ने नरेगा का बजट भी घटा दिया है। चौधरी ने कहा कि नौजवानों के लिए सरकार के पास कोई योजना नहीं है। आज किसानों और नौजवानों पर डबल इंजन की मार पड़ रही है। हम लोग किसानों का संदेश लेकर आए हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनाव में जो लोग जिन्ना, पाकिस्तान और औरंगजेब का नाम लेकर चुनाव लड़ रहे हैं, उन्हें भारी शिकस्त मिलने वाली है।