• संवाददाता

उत्तराखंड: एनसीबी और एसटीएफ मिलकर तस्करों पर कसेंगे नकेल


देहरादून, सोशल टाइम्स। नार्कोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) के साथ मिलकर एसटीएफ नशा तस्करी के धंधे पर नकेल कसने जा रही है। तस्करी करने वालो की गिरफ्तारी के साथ-साथ अब इनकी संपत्ति जब्त करने की भी तैयारी की जा रही है।


इन तस्करों और सिंथेटिक ड्रग के अवैध निर्माताओं पर नकेल कसने की तैयारी कर ली है। ऐसे कम से कम 50 तस्करों की कुंडली तैयार की गई है। जल्द ही एसटीएफ इनके खिलाफ बड़ी कार्रवाई कर सकती है। एसएसपी एसटीएफ अजय सिंह ने बताया कि नशा तस्करी के खिलाफ लगातार कार्रवाई की जा रही है। अब कुछ नई रणनीति बनी है। इस पर जल्द ही कुछ बड़ी कार्रवाई की जाएंगी।


जानकारी के अनुसार उत्तराखंड में ज्यादातर नशे की खेप उत्तर प्रदेश के बरेली, रामपुर, मुरादाबाद आदि से जाती है। इसके अलावा नेपाल से भी अंतरराष्ट्रीय बॉर्डर के जरिए यहां पर नशे की सप्लाई की जाती है। लेकिन, पिछले कुछ समय में सिंथेटिक ड्रग ने पुलिस की चुनौती बढ़ाई है। इस ड्रग का गढ़ उत्तर प्रदेश के बरेली को माना जाता है। पिछले साल एसटीएफ और एनसीबी ने कुछ ऐसे तस्करों को गिरफ्तार किया था, जिनसे पता चला था कि वहां पर बकायदा हेरोइन की फैक्ट्री चल रही है।