• संवाददाता

उत्तराखंड महापरिषद के तत्वाधान में हुआ योग शिविर का आयोजन




लखनऊ। उत्तराखण्ड महापरिषद के तत्वाधान में अन्तराष्ट्रीय योग दिवस पर तीन दिवसीय योग शिविर का आयोजन 19 जून से 21 जून तक षिविर का आयोजन भारत रत्न गोविन्द बल्लभ पंत पर्वतीय सांस्कृतिक उपवन में किया गया।


इस अवसर पर उत्तराखण्ड महापरिषद के पदाधिकारी, महिलांए जिसमें कल्याणपुर, नीलमत्था, इन्दिरा नगर, कुर्माचल नगर, विकास नगर, महानगर, अलीगंज एवं जानकीपुरम क्षेत्र से लोग योगा स्थल पहुंचे। योग गुरू बृज मोहन सिंह नेगी द्वारा तीन दिन योगा अभ्यास कराया। अन्तराष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर अध्यक्ष हरीश चंद पंत द्वारा लोगों को अन्तराराष्ट्रीय योग दिवस की सुभकामनाएं एवं बधाई दी उन्होने कहा योग करना रोगमुक्त जीवन की कुंजी है। योग वह प्रकाश है जो एक बार जला दिया जाये तो कभी कम नही होता है। इस अवसर पर संयोजक दीवान सिंह अधिकारी, हेम सिंह, महासचिव भरत सिंह बिष्ट, वरिष्ठ उपाध्यक्ष मंगल सिंह रावत, सचिव राजेष बिष्ट, महिला अध्यक्ष पुष्पा वैष्णव, हेमा बिष्ट कल्याणपुर , रोजी दूबे, हीरा बिष्ट, राजेन्द्र सिंह बिष्ट किशन सिंह बिष्ट, उमेश सनवाल आदि के कर कमलो द्वारा योग गुरू को अंगवस्त्र, प्रतीक चिन्ह एवं पुष्पगुच्छ भेंट कर सम्मानित किया गया।

योग गुरू ने लोगों को बैठकर पद्यासन, वज्रासन, गोमुखासन तथा पीठ के बल लेटकर मकरासन, धनुरासन एवं नौकासन आदि का अभ्यास कराया। साथ ही उन्होने प्रणायाम के कुछ प्रकार की जानकारी भी दी। नाड़ी षोधन प्रणायाम, भ्रामरी प्राणायाम, अनुलोम- विलोम प्राणायाम, वाहय प्राणायाम तथा कपालभाती प्राणायाम का अभ्यास कराते हुए उसके लाभ भी बताये। प्रााणायाम कब करे या प्राणायाम करने का सही समय की जानकारी देते हुए कहा कि प्राणायाम सुबह के समय खाली पेट करें प्राणायाम ताजा हवा और उर्जा से मन और षरीर को भरने का तरीका है। इस अवसर पर दीवान सिंह अधिकारी ने कहा कि मौजूदा समय में लोग अच्छे स्वास्थ्य और मानसिक तंदरूस्ती के लिए योगा का रूख कर रहे है। योग से षरीर को अदभुद लाभ मिलते है। योग षिविर में 100 से अधिक लोगों ने भाग लिया। अंत में सभी को अंतराष्ट्रीय योग दिवस की हार्दिक शुभकामनायें देते हुए सभी ने प्रतिदिन योगा अभ्यास करने की प्रतीज्ञा ली।