• ब्यूरो

आप प्रदेश कार्यालय में पंचायत प्रकोष्ठ की बैठक का हुआ आयोजन




लखनऊ। आम आदमी पार्टी के गोमतीनगर स्थित प्रदेश कार्यालय में शुक्रवार को पंचायत प्रकोष्ठ की प्रदेश स्तरीय बैठक सम्पन्न हुई। प्रदेश के विभिन्न जिलों से वरिष्ठ कार्यकर्ताओं ने इसमें भाग लिया। बैठक का नेतृत्व पंचायक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष विनय पटेल ने किया। मुख्य अतिथि निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष सभाजीत सिंह रहे।


प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष विनय पटेल ने कहा कि उत्तर प्रदेश की 75 प्रतिशत आबादी गांव में बसती है। अनाज देने के नाम पर ढिंढोरा पीटकर वोट लिया गया और चुनाव बीत जाते जाने के बाद राशन कार्ड निरस्त करने का आदेश जारी कर दिया गया। उत्तर प्रदेश के किसानों के लिए बिजली मुक्त का वादा जीरो साबित हुआ किसान सम्मान निधि को एक एक जिले में निरस्त कराने के लिए दबाब बनवाया गया। चुनाव खत्म् हो जाने  के बाद गेहं खरीदा ही नहीं प्रदेश भर में इसके लिए आंदोलन करना होगा। पूरे उत्तर प्रदेश में रसोईयां काम करती हैं सरकार उनको एक दिन का 50 रुपये देती है। आप सोचिये एक दिल्ली की सरकार चल रही है। 14 हजार से नीचे आप अपने यहां कोई कर्मचारी नहीं रखेंगे। यूपी में 1500 रुपये वेतन दे रही है सरकार। अग्नि योजना पर तंज कसते हुए उन्होंने कहा कि बीजेपी खुलकर बोलिये कि सेना को देने के लिए हमारे पास पैसा नहीं है। सपा और बसपा में विरोध करने की क्षमता नहीं है। हमें डर नहीं है कि हमारे घर पर बुलडोजर चल जाएगा। ईडी की जांच बैठ जाएगी ।  बैठक में यूथ विंग प्रदेश अध्यक्ष पंकज अवाना, अंकित परिहार, सुभाष शुक्ला, जय प्रकाश दु,बे सुमित वर्मा, आलोक वर्मा, पंकज यादव, हिमांशु त्रिपाठी, रसूली भाई, आदि उपस्थित रहे