• संवाददाता

नाम बदलने वाली सरकार का नाम बदलने के लिए जनता उतावली है: नंदा

बीजेपी सरकार किसी का हित नही चाहती: विकास

पीलीभीत,सोशल टाइम्स। मंगलवार को समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष किरणमय नंदा ने कहा कि समाजवादी पार्टी व जनता दोनों का मुख्य लक्ष्य भारी बहुमत से अखिलेश यादव की अगुवाई में प्रदेश की सरकार बनाना। यूपी में नाम बदलने वाली सरकार का नाम बदलने के लिए जनता उतावली है। यहाँ किसान जो भारत का अन्नदाता है वह स्वयं दाने-दाने को मोहताज है। उर्वरक, बीज व डीजल की मंहगाई उसके बाद छुट्टा मवेशी से किसान तिल-तिल कर मर रहा है।वही बाढ़ की विभीषका ने किसान की फसलों को बर्बाद कर दिया है। लेकिन भाजपा की तानाशाह सरकार इन सभी को इनके हाल पर छोड़ दिया है,जनता का कोई पुरसाहाल नही है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि बीजेपी विषैला सांप है जो लोगों को डराने के लिए फुफकार मारने व समाज में विष घोलने का काम करती है। बीजेपी वालों के मुँह से विकास की बात तक नही निकलती, विकास करना तो दूर। उंन्होने कहा कि सत्ता मोह में पगलाई सरकार लोकतंत्र को गाड़ी के टायरों तले कुचल रही। संसार में कभी ऐसा नही हुआ जो निरकुंश बीजेपी सरकार में हुआ। उंन्होने कहा कि लखीमपुर की घटना किसी से छुपी नही है,की किसान अपना हक मांग रहे थे। शान्तिपूर्वक विरोध दर्ज करा रहे थे लेकिन सत्ता के नशे में चूर बीजेपी के लोगों ने उन्हें रौंद दिया। इस जघन्य व दिल दहलाने वाली घटना से पूरा देश हतप्रभ है। ऐसा तो अंग्रेजो ने कभी नही किया। इसका खामियाजा बीजेपी को भुगतान पड़ेगा। जनता बीजेपी को खत्म कर न्याय करेगी व बदला लेगी।

इस दौरान युवजन सभा के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष विकास यादव ने कहा कि किसानों, व्यापारियों नवजवानों पर अत्याचार करने वाली सरकार को हटाने के लिए उतावले हैं। उंन्होने कहा कि यह बीजेपी सरकार किसी का हित व प्रदेश का भला नही चाहती । ये किसी भी कीमत पर सत्ता में बना रहना चाहती है। इस सरकार में अपराध बढ़े हैं, ज्यादातर अपराध में बीजेपी से जुड़े लोगों के ही नाम आ रहे हैं। उंन्होने बताया लखीमपुर उन परिवारों से मिलने हम सब गए थे जहाँ पत्रकार व किसानों को कुचलकर मां-बाप के बुढ़ापे का सहारा,बच्चों को उनके पिता से छीनने, पत्नी के मांग का सिंदूर मिटाने का पाप चीख-चीखकर इस निरंकुश सरकार को मिटाने को कह रहा है। उंन्होने कहा जो अन्नदाता हमें रोटी देता है जब उसकी ये बीजेपी सरकार नही है, तो यह किस की है। उंन्होने कहा कि ये सिर्फ, लोगों को दुःख, तकलीफ, पीड़ा के सिवाय कुछ नही दे सकते। इस दौरान युवजन सभा के पूर्व राष्ट्रीय उपाध्यक्ष शिवमूर्ति राना, लोहिया वाहिनी के राष्ट्रीय सचिव प्रवीण सैनी, जिलाध्यक्ष जगदेव सिंह जग्गा, महासचिव यूसुफ कादरी, शेखर यादव, बबलू सहित हजारों की संख्या में पदाधिकारी व कार्यकर्ता उपस्थित रहे।