• संवाददाता

6 घंटे के भीतर पुलिस ने किया हत्या का खुलासा, एक गिरफ्तार


नैनीताल। कालाढूंगी पुलिस ने एक मामले के त्वरित कार्रवाई करते हुए मात्र 6 घंटो में अपराधी को पकड़ लिया।


जानकारी के अनुसार बुधवार रात को एसआई विजय कुमार को सूचना मिली कि चौकी बैलपडाव क्षेत्र में स्थित लूनिया खत्ता वन क्षेत्र में रहने वाले किसी वन गुर्जर की एक लडकी की आस्मिक मृत्यु हो गयी जो संदिग्ध प्रतीत हो रही है।


उक्त सूचना पर थाना हाजा से विजय कुमार महिला कांस्टेबल प्राची के साथ मौके पर रवाना हुआ । जहाँ पर मौका मुआयना करने पर प्रथम दृष्टया मृतका आमना की मृत्यु किसी अज्ञात व्यक्ति द्वारा गला घोटकर होना प्रतीक हुई जिस पर मृतका के दादा गुलाम नवी द्वारा दी गयी तहरीर के आधार पर थाना हाजा पर मुकदमा पंजीकृत किया गया।


जिसके बाद विवेचना गवाहो के बयानो व पूछताछ के दौराने अभियुक्त रियासत अली द्वारा अपना अपराध कबूल करते हुए बताया गया कि लगभग डेढ साल पहले मेरा निकाह मेरे मामा की लडकी आमना से हुआ लेकिन गोना नहीं हुआ था इसलिए हम दोनो अलग रहते थे। लगभग 6 महीने पहले मै धान की पुराल इकट्ठा करने यहां आया हुआ था तथा अपने मामा हनीफ और यामीन के यहां रहता था इसी दौरान मुझे पता चला कि मेरी पत्नी आमना का अपने ताऊ के लडके अय्यूव के साथ चक्कर चल रहा है , इन दोनो को एक दिन मैनें रंगे हाथों बिस्तर पर पकड भी लिया जिस कारण मेरे मन में धीरे-धीरे आमना के प्रति नफरत सी होने लगी । उसने बताया कि कल रात अपने मोबाईल से आमना को व्हाटसप मैसेज कर बाहर बातचीत के लिए बुलाया तथा अय्यूब के साथ चल रहे चक्कर के बारे में पूछा तो हम दोनों में झडप हो गयी मुझे गुस्सा आ गया मैंने वहीं पास पडे दुपट्टे से पीछे से आकर उसका गला घोट दिया तथा उसको उठाकर उसके घर के पीछे पराल के ढेर के पास लाकर रख दिया और मैं अपने बिस्तर पर जाकर सो गया थोडी देर में लगभग एक बजे के आस पास आमना की मम्मी मामा के घर पर आयी और कहने लगी कि आमना को कुछ हो गया है जिस पर मैं और हनीफ मामा और मामी पराल के पास गये और मैने इस बात का एहसास किसी को भी नही होने दिया । और आमना और मेरे बीच हुई मोबाईल चैट को आमना के मोबाईल से मैने डिलिट कर दिया ।