• ब्यूरो

थाने, तहसील, कलेक्ट्रेट बन गए हैं भ्रष्टाचार के अड्डे: अखिलेश


लखनऊ। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि भाजपा राज में थाने, तहसील, कलेक्ट्रेट सब भ्रष्टाचार के अड्डे बना दिये गये हैं। भाजपा सरकार की जीरो टॉलरेंस नीति महज दिखावा है। सत्ता के संरक्षण में प्रशासन निर्दोषों, गरीबों का उत्पीड़न करने में लग गया है। किसानों पर बुलडोजर चल रहा है। झूठ के सहारे अभी से उपलब्धियां गिनाई जा रही है।

सपा अध्यक्ष एवं नेता प्रतिपक्ष ने सोमवार को जारी बयान में कहा कि भाजपा राज में दावों का फरेबी ताजमहल गढ़ने का कोई हिसाब नहीं है। उत्तर प्रदेश में भाजपा की पिछली सरकार में 5 लाख नौकरियां दिये जाने का दावा किया गया था जिसका डाटा आज तक सार्वजनिक नहीं किया गया कि किसको कहां नौकरी मिली? अब भाजपा सरकार 100 दिन में दस हजार नौकरियां देने का वादा कर रही है। इनकी करनी और कथनी को सभी ने देखा है। भाजपा सरकार की नई घोषणाएं महज झांसा है। युवाओं की नौकरी, रोजगार के प्रति भाजपा सरकार पूरी तरह संवेदनशून्य है। बेरोजगारी के कारण नौजवान आत्महत्या करने को मजबूर हैं।

उन्होंने कहा कि मेरठ में भाजपा नेता के गुंडो द्वारा एक गरीब वेज बिरयानी वाले की लाचारी का फायदा उठा कर उसकी रोजी-रोटी को तहस-नहस कर देना भाजपा सरकार के जंगलराज का प्रतीक है गोसाईगंज पुलिस ने निर्दोश युवक को फर्जी मुकदमें में जेल भेज दिया। भाजपा दफ्तर के बाहर पीड़ित मां द्वारा न्याय की गुहार लगाते हुए खुद को आग लगा लेने की घटना दुखद है।


एटा की घटना पर बात करते हुए अखिलेश ने कहा कि एटा में कर्ज में डूबा किसान खुदकुशी के लिए मजबूर हो गया। कानपुर देहात में खेत में मिट्टी का खनन होने से परेशान किसान ने भी आत्महत्या का रास्ता चुना। ये है भाजपा राज में कानून व्यवस्था का हाल।