• ब्यूरो

भाजपा की गलत नीतियों के कारण गरीबी, भुखमरी बढ़ी: शिवपाल यादव

भारतीय जन सेवा पार्टी का प्रसपा में हुआ विलय

लखनऊ, सोशल टाइम्स। रविवार को प्रगतिशील समाजवादी पार्टी में भारतीय जन सेवा पार्टी के विलय की घोषणा करते हुए प्रसपा प्रमुख शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि प्रसपा की ताकत लगातार बढ़ रही है । स्वामी लक्ष्मी शंकर आचार्य व मुर्तुजा अली जैसे कद्दावर सामाजिक नेताओं द्वारा प्रसपा का दामन थामने से सेकुलर अभियान को गुणात्मक शक्ति मिली है। भाजपा पर करारा प्रहार करते हुए शिवपाल ने कहा कि भाजपा राज की गलत आर्थिक नीतियों के कारण देश में गरीबी और भुखमरी बढ़ी है । वैश्विक भुखमरी सूचकांक में भारत 104वें स्थान पर आ गया है जबकि पिछले साल 94वें पायदान पर था । पाकिस्तान, लंका, नेपाल तक की स्थिति हिंदुस्तान से बेहतर है । उन्होंने कहा कि भाजपा बुनियादी सवालों से देश को भटकाने का काम बड़ी चालाकी से करती है । भुखमरी व कुपोषण के मोर्चे पर भाजपा सरकार पूर्णतया विफल रही है । दो चरणों की परिवर्तन यात्रा से प्रसन्न शिवपाल ने कहा कि कृष्ण जितने मीरा व सूर के हैं उतने ही रहीम व रसखान के हैं । भारतीय संस्कृति विभाजन व नफरत के खिलाफ रही है । साम्प्रदायिकता से लड़ना हमारा लोक कर्तव्य है । शिवपाल ने कहा कि राम व कृष्ण के नाम पर साम्प्रदायिकता फैलाना ठीक नहीं , विभाजन की संकुचित राजनीति के परिणाम खतरनाक होते हैं । इस अवसर पर उपस्थित जनसमूह को संबोधित करते हुए स्वामी लक्ष्मी शंकर आचार्य ने कहा कि शिवपाल के बगैर भाजपा को हराना मुश्किल है । इस अवसर पर प्रसपा मुख्य प्रवक्ता दीपक मिश्र, मुर्तुजा अली, खालिद इस्लाम, भंते धीरो ज्योति, पीसी कुरील, जर्रार हुसैन, बदरुल हसन आदि ने संबोधित किया ।