• संवाददाता

राजेश सूरी हत्याकांड में वादी रीता सूरी को मिली जान से मारने की धमकी


देहरादून, सोशल टाइम्स। अधिवक्ता राजेश सूरी हत्याकांड में वादी रीता सूरी को जान से मारने की धमकी दी गई है। रीता राजेश की बहन हैं। रीता सूरी की शिकायत पर शहर कोतवाली में छह लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।


रीता सूरी निवासी खुड़बुड़ा मोहल्ला की शिकायत पर सतेंद्र कुमार निवासी रंग महल चौक हरिद्वार, ताहीर खान निवासी रीठा मंडी, केपी चौधरी निवासी प्रीत एन्क्लेव माजरा, सुधीर जैन निवासी राजा रोड और उनकी बेटी दिव्या जैन व श्वेता जैन के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है।


रीता सूरी ने कहा कि सतेंदर, ताहिर खान, अधिवक्ता केपी चौधरी, ने सोची समझी साजिश के तहत दो शपथ पत्र को तैयार किए। आरोपी डीएम कपाउंड स्थित भाई अधिवक्ता राजेश कुमार सूरी के चैंबर में आए। कैपी चौधरी ने शपथ पत्र देते हुए भाई की हत्या में गठित एसआईटी की टीम का नेतृत्व करने वाले विवेचना अधिकारी को देने के लिए कहा।


रीता ने कहा कि शपथ पत्र में जिस भाषा का प्रयोग किया गया था उसे सुनकर वह स्तब्ध रह गईं। इसके बाद विवेचना अधिकारी ने जब सतेंद्र के बयान लिए तो वह दिए गए शपथ पत्रों से मुकर गया। इसी बीच अधिवक्ता राजेश कुमार सूरी हत्याकांड मामले में अंतिम रिपोर्ट लगा दी गई। रीता सूरी ने तत्कालीन पुलिस उपमहानिरीक्षक गढ़वाल को प्रार्थना पत्र देकर दोनों शपथ पत्रों की हैंडराइटिंग एक्सपर्ट से जांच करवाने की मांग की है।