• ब्यूरो

राम मंदिर निर्माण के लिए रामभक्त 500 वर्ष से इंतजार कर रहे थे: योगी


अयोध्या, सोशल टाइम्स। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए रामभक्त 500 वर्ष से इंतजार कर रहे थे। जब भाजपा की सरकार आई तो सारी बाधाएं दूर हुईं और भव्य मंदिर का निर्माण शुरू हुआ। 2023 के अंत में जब रामलला विराजमान होंगे तो पूरी दुनिया कहेगी यह है हमारी अयोध्या। हमलोग रामराज्य की संकल्पना को साकार करने जा रहे हैं। यह काम सपा और बसपा कभी नहीं कर पाती। हमने 500 वर्ष का इंतजार खत्म करवाया है तो अयोध्या की पांच सीटों पर भाजपा को जिताना है।

योगी ने गुरुवार को अयोध्या के रुदौली और गोसाईगंज में जनसभा में कहा कि अयोध्या सुंदर नगरी बनने जा रही है। अयोध्या में अन्तराष्ट्रीय एयरपोर्ट और मेडिकल कालेज बन रहा है। उन्होंने कहा कि पहले प्रदेश में सिर्फ सैफई महोत्सव होता था। आज अयोध्या में दीपोत्सव, मथुरा में रंगोत्सव, काशी की देव दीपावली और प्रयागराज में भव्य और दिव्य कुंभ के आयोजन से देश-दुनिया में छा जाता है। उन्होंने कहा कि हम हर जरूरतमंद को सुविधा दे रहे हैं। सपा का विकास कब्रिस्तान की बाउंड्री वाल बनवाना था। गरीब के योजनाओं का पैसा इत्र वाला मित्र डकार जाता था। इसीलिए सरकार का बुलडोजर सड़क भी बनाता है और माफियाओं को रौंदने का काम भी करता है। 2017 के पहले नौकरी निकलती थी सैफई खानदान वसूली पर निकल पड़ता था। सपा सरकार में 700 दंगे, बसपा में 367 दंगे और भाजपा सरकार में एक भी दंगा नहीं हुआ। पहले अयोध्या में दुर्गा पूजा में जुलूस को रोक दिया जाता था। दंगा हो जाता था। अब यूपी में दंगा नहीं होता। भयमुक्त प्रदेश भाजपा ने दिया। उन्होंने कहा कि 2017 के पहले बिजली ही नहीं आती थी। जब भाजपा की सरकार बनी तो बिना भेदभाव के बिजली दी जा रही है। पहले बिजली की जाति और मजहब होता था। ईद और मोहर्रम में आती थी और होली-दिवाली पर गायब हो जाती थी। मुख्यमंत्री योगी ने कहा कि सपा के समय 18 हजार मकान स्वीकृत हुए थे, पर मिले किसी को नहीं। भाजपा के समय पूरे प्रदेश के अंदर 45 लाख से अधिक जरूरतमंदों को मकान दिए गए। सिर्फ अयोध्या में 48 हजार से अधिक मकान दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना वैक्सीन सबको फ्री में लगी। सपा या बसपा की सरकार होती तो ये वैक्सीन बाजार में बिक जाती। सभी को बिना भेदभाव के महीने में दो बार राशन मिल रहा है। 2017 के पहले राशन सपा के गुर्गों के पास चला जाता था। बसपा के हाथी का पेट इतना बड़ा है कि पूरे प्रदेश का राशन समा जाएगा।