• संवाददाता

आरक्षण पीड़ितों ने जनता की रक्षा के लिए की प्रार्थना


मंदिर में पूजा करते हुए अभ्यर्थी

लखनऊ। सोमवार को प्रदेश भर के 69k शिक्षक भर्ती आरक्षण पीड़ित अभ्यर्थियों ने ईश्वर से कोरोना महामारी से भारतवासियों की रक्षा के लिए प्रार्थना की।


मंदिर, मस्जिद में अभ्यर्थियों ने प्रार्थना की।

नमाज़ पढ़ते हुए अभ्यर्थी

क्या है आरक्षण पीड़ित


बता दे कि अभ्यर्थी खुद को आरक्षण पीड़ित इसलिए कहते है क्यूंकि उनका मानना है कि शिक्षक भर्ती प्रक्रिया में घोटाला कर आरक्षित वर्ग का हक़ मारा गया है। इस बात को राष्ट्रीय पिछड़ा वर्ग आयोग ने भी माना है और हालही में आयोग ने अपनी रिपोर्ट में कहा है की बड़े स्तर पर ओबीसी और एससी की सीटों की हकमारी हुई है।

कुछ दिन पहले अभ्यर्थियों ने दिया था सांकेतिक धरना


कुछ दिन पहले ही प्रदेशभर के आरक्षित वर्ग (ओबीसी, एससी) के अभ्यर्थियों ने 69000 शिक्षक भर्ती में हुए इस आरक्षण घोटाले को लेकर अपने अपने आवास पर धरना दिया था। प्रत्येक जनपद से हज़ारो लोगो ने सांकेतिक धरना दिया था।


प्रार्थना करने वालो में एटा के सुमित यादव, शाहजहांपुर के फ़िरोज़, लखनऊ के पुष्पेंद्र जेलर, इलाहाबाद के लोहा सिंह पटेल व कासगंज के प्रभात यादव संग भारी संख्या में अभ्यर्थियों ने हिस्सा लिया।