• एजेंसी

शरीर को स्वस्थ रखने के लिए साधना बहुत ही आवश्यक :महंत अरुण




गोरखपुर (न्यूज़ ऑफ इंडिया) विश्व शांति मिशन के तत्वावधान में गोरखपुर के कई स्थानों पर 14 जून से 20 जून तक अमृत योग सप्ताह मनाया गया एवं 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर विभिन्न योगासन एवं योग मुद्राएं करा कर खिलाड़ियों एवं आम लोगों में योग के प्रति जागरूकता व प्रेम  भावना भरने का प्रयास किया गया। विश्व शांति मिशन के अध्यक्ष महंत अरुण दास ब्रह्मचारी द्वारा प्रतिदिन प्रातः 6:00 से 7:00 तक क्षेत्रीय क्रीडा़ंगण में योग प्रशिक्षण दिया गया एवं अंतरराष्ट्रीय योग सप्ताह मनाया गया। इस अवसर पर क्षेत्रीय क्रीडा़ंगण में विभिन्न खेलों के खिलाड़ियों एवं प्रशिक्षकों के बीच उन्होंने योग का जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव पर प्रकाश डालते हुए कहा कि योग ईश्वर से जुड़ने का एक माध्यम है योग का अर्थ है जोड़ और पंच तत्वों के योग से हमारे शरीर का निर्माण हुआ है इसलिए शरीर को स्वस्थ रखने के लिए पंच तत्वों के अनुसार शरीर को साधना बहुत ही आवश्यक है और इसीलिए योग की साधना करने वाले को साधक कहा जाता है और जब वह अपने क्रियाओं में पूर्ण निपुण हो जाता है तो उसे योगी कहा जाता है। प्रतिदिन योगाभ्यास करने से मानव जीवन का कल्याण होता है और शरीर भी स्वस्थ रहता है तथा मस्तिष्क के स्वस्थ रहने से सभी मानसिक विकार अपने आप समाप्त हो जाते हैं । इस अवसर पर तमाम खिलाड़ियों के अलावे क्षेत्रीय क्रीड़ा अधिकारी आले हैदर कबड्डी की  प्रशिक्षक श्रीमती विजयलक्ष्मी, डॉ अशोक कुमार श्रीवास्तव फैंस क्लब के संयोजक युवा उद्यमी मनजीत कुमार उर्फ सप्पू बाबू ,हैंडबॉल के नफीस अहमद, क्रिकेट के प्रशिक्षक अजय कुमार , राम केसर, संजय कुमार श्रीवास्तव , मदन चरण श्रीवास्तव , नगीना लाल प्रजापति, आलोक श्रीवास्तव आदि तमाम गणमान्य लोग उपस्थित थे।