• एजेंसी

संत कबीरदास जी ने सदैव रुढ़िवाद का विरोध किया: मुख्यमंत्री


लखनऊ (न्यूज़ ऑफ इंडिया) मगहर में राष्ट्रपति के कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि संत कबीरदास जी ने सदैव रुढ़िवाद का विरोध किया। उन्होंने इसके विरुद्ध एक आवाज उठायी थी, इसीलिए वे मगहर आए थे। उस समय कहा जाता था कि मगहर में आने पर नर्क मिलता है। कबीरदास जी इसके खिलाफ जाकर यहां आए और उन्होंने इसे स्वर्ग बना दिया। आज यहां पर पर्यटन विकास के अनेक कार्य हो रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज राष्ट्रपति जी के कर-कमलों से मगहर में 03 बड़ी परियोजनाओं का लोकार्पण कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है। इनमें 31.49 करोड़ रुपये की लागत से संत कबीर अकादमी एवं शोध संस्थान का निर्माण शामिल है, जिसके माध्यम से संत कबीर दास जी की लोक साहित्य, उनकी साखी, बीजक, शबद, उनकी सिद्धी को लेकर शोध कार्य किये जाएंगे। साथ ही, स्वदेश दर्शन योजना के अन्तर्गत 17.61 करोड़ रुपये की लागत से इंटरप्रेटेशन सेन्टर का निर्माण तथा 37.66 लाख रुपये की लागत से कबीर निर्वाण स्थली, मगहर का सौन्दर्यीकरण का कार्य भी इसमंे शामिल है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि हमें अपनी जिम्मेदारी को समझना ही पड़ेगा। अपने कर्तव्य के प्रति कबीर दास जी ने आगाह करते हुए कहा था - ‘काल करे सो आज कर, आज करे सो अब’। कार्य को टालने के आदत नहीं डालनी है। जो कल करना है, उसे आज ही करें और जो आज करना है, उसकी शुरुआत अभी से कर दें। बहुत से लोग मुहूर्त देखते हैं, यह टालने की आदत है। टालने से समस्या का समाधान नहीं होता है। कर्म के पथ पर चलकर ही हम अपने समाज, अपने देश को आगे बढ़ा सकते हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अमृत महोत्सव वर्ष में हम सबको एक साथ जोड़ने के लिए अमृत काल के आगामी 25 वर्षाें के लिए लक्ष्य निर्धारण के लिए कहा है। जब प्रत्येक नागरिक इस संकल्प के साथ जुड़ेगा, तब हम इस लक्ष्य को प्राप्त कर सकते हैं। प्रधानमंत्री की भावनाओं और विज़न के अनुरूप संत कबीर दास जी के विचार दर्शन को आने वाली पीढ़ी के सामने जीवन्त बनाने के इस कार्यक्रम को आगे बढ़ाने के लिए मुख्यमंत्री ने प्रदेश के पर्यटन और संस्कृति विभाग तथा भारत सरकार के संस्कृति मंत्रालय को धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि यह पूरा क्षेत्र विकास की नई ऊंचाइयों को छूता हुआ अनेक श्रद्धालुआंे को आकर्षित करने में सफलता प्राप्त करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि मगहर में आज लोकार्पित होने वाली परियोजनाओं का शिलान्यास प्रधानमंत्री द्वारा किया गया था। प्रधानमंत्री के नेतृत्व में देश में अनेक स्थलों का सौन्दर्यीकरण और उनकी पहचान प्रदान करने के अनेक कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इनमें स्वदेश दर्शन योजना हमें वैचारिक रूप से जोड़ने, समाज को एक नई दिशा प्रदान करने तथा अपने परम्परागत तीर्थस्थलों के पर्यटन विकास के लिए भारत सरकार की एक महत्वाकांक्षी योजना है। इसके एक बड़े प्रोजेक्ट का मगहर में लोकार्पण हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के अन्दर अलग-अलग स्थानों पर रामायण सर्किट, कृष्ण सर्किट, आध्यात्मिक सर्किट, बौद्ध सर्किट के अनेक कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसके अन्तर्गत पर्यटन विकास की सम्भावनाओं को आगे बढ़ाने के साथ-साथ रोजगार, श्रद्धालु एवं नागरिकों के लिए बेहतर बुनियादी सुविधाएं उपलब्ध कराए जाने के कार्य भी किये जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि देश के राष्ट्रपति उत्तर प्रदेश के ही सपूत हैं। यहीं पर उनका जन्म हुआ और यहीं पर उन्होंने अपना बचपन तथा जवानी व्यतीत करते हुए अपने को लोक सेवा तथा समाज सेवा के कार्यांे के प्रति समर्पित किया। यह भारत के लोकतंत्र की ही ताकत है कि एक छोटे से गांव के एक सामान्य परिवार में जन्म लेकर उन्होंने देश के सर्वाेच्च संवैधानिक पद पर पहुंचकर पूरे देश का मार्गदर्शन किया।