• ब्यूरो

यूपी में भाजपा को झटका, सुभासपा ने सपा से किया गठबंधन

दोनों पार्टियों ने दिया नारा 'अबकी बार, भाजपा साफ'

लखनऊ, सोशल टाइम्स। बुधवार को सुभासपा और समाजवादी पार्टी का गठबंधन हो गया है। दोनों पार्टियां 2022 यूपी विधानसभा चुनावों में मिलकर लड़ेंगी। सुहेलदेव भारतीय समाज पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओम प्रकाश राजभर ने सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव से शिष्टाचार मुलाकात के बाद गठबंधन का एलान किया। अखिलेश यादव से मुलाकात के बाद राजभर ने बयान दिया कि आज अखिलेश यादव से मुलाकात हुई। हमने गठबंधन के लिए सपा, बसपा, कांग्रेस और भाजपा को निमंत्रण दिया था। अखिलेश यादव ने हमारे न्योते को स्वीकार किया। हमारी उनसे एक घंटे बात हुई। 27 तारीख को महापंचायत रखी गई है जिसमें वंचित, दलित और अल्पसंख्यक वर्ग के लोग शामिल होंगे। सीटों के लिए 27 के बाद बैठ कर बात कर लेंगे। उन्होंने कहा कि सपा एक सीट भी नहीं देगी तो भी हम उनके साथ रहेंगे। राजभर ने कहा कि इस समय प्रदेश में भाजपा नफरत की राजनीति कर रही है। व्यापारी और नौजवान सभी परेशान हैं। उन्होंने ये भी कहा कि भागीदारी संकल्प मोर्चा में सीटों का विवाद नहीं है। उन्होंने कहा कि दलितों, पिछड़ों और अल्पसंख्यकों के साथ सभी वर्गों को धोखा देने वाली भाजपा सरकार के केवल चार दिन बचे हैं। उन्होंने नारा दिया कि अबकी बार, भाजपा साफ। दूसरी ओर समाजवादी पार्टी ने सुभासपा से गठबंधन करने के बाद कहा कि सपा और सुभासपा साथ आए हैं। जानकारी के अनुसार दोनों नेताओं में 14 सीटों पर सहमति बनी है। राजभर ने बुधवार को अखिलेश यादव से मुलाकात की। इसके पहले राजभर के भाजपा से गठबंधन करने के कयास लगाए जा रहे थे। बता दें कि इस गठबंधन से पूर्वांचल की सीटों पर काफी असर पड़ेगा। भाजपा की नज़र लगात्तार ओपी राजभर पर थी लेकिन कोई समझौता ना होने के कारण राजभर ने सपा का रुख किया। माना जा रहा है कि इस गठबंधन से विधानसभा चुनावों में सबसे ज़्यादा नुकसान भाजपा का होगा।