• ब्यूरो

अस्पताल में आजम खान से मिले सपा मुखिया अखिलेश यादव


लखनऊ। आखिरकार सपा के दो दिग्गज नेताओं अखिलेश यादव और आजम खां के बीच गतिरोध टूट गया। जेल से जमानत पर रिहा होकर आए आजम खां से सरगंगा राम अस्पताल में अखिलेश यादव ने मुलाकात की। आजम खां की अखिलेश से नाराजगी की खबरों के बीच यह मुलाकात करीब ढाई घंटे चली। इस दौरान आजम खां के बेटे विधायक अब्दुल्ला आजम भी मौजूद रहे। सपा से राज्यसभा के लिए नामित वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल ने दोनों नेताओं के बीच कड़वाहट को कम करने की काम किया है। फिलहाल, सियासत किस तरफ करवट लेती है यह अभी साफ नहीं है। मुलायम सिंह के खासमखास रहे आजम खां की सपा के मुखिया अखिलेश यादव से नाराजगी अब जगजाहिर हो गई थी। बीस मई को आजम खां की सीतापुर कारागार से रिहाई होने के बाद से आजम-अखिलेश की मुलाकात नहीं हुई है। इस बीच आजम खां ने विधानसभा सेत्र में शिरकत करके शपथ ली थी, लेकिन अखिलेश से मुलाकात किए बगैर वह आ गए थे। इस बीच आजम खां की पैरवी सुप्रीम कोर्ट में कपिल सिब्बल ने की थी। सुप्रीमं कोर्ट से अंतरिम जमानत मिलने पर आजम खां को 27 महीने बाद जेल से रिहाई मिली थी। आजम और अखिलेश के बीच बढ़ती दूरियां कम करने की जिम्मेदारी निभाई है कपिल सिब्बल ने। वह भी अस्पताल में आजम खां से मुलाकात करेंगे। बुधवार को आजम खां से मिलने अखिलेश यादव दोपहर में सर गंगाराम अस्पताल पहुंचे। आजम खां ने अखिलेश का इस्तकबाल किया और अखिलेश ने आजम खां का हालचाल जाना। दोनों नेताओं में क्या बातचीत हुई है इसका ब्यौरा अभी नहीं मिल सका है। माना जा रहा है कि अखिलेश और आजम ने अपने गिले-शिकवे दूर करने की पहल शुरू कर दी है। इसके अलावा रामपुर में होने वाले उप चुनाव पर भी दोनों नेताओं में विचार-विमर्श होने के कयास लगाए जा रहे हैं। गौरतलब है कि रामपुर संसदीय क्षेत्र का उप चुनाव अगले महीने होना है। अखिलेश यादव जब आजम खां से बातचीत करके अस्पताल से निकले तो मीडिया ने उनसे बातचीत करने की कोशिश की, लेकिन अखिलेश यादव ने हाथ जोड़े और कार में बैछकर चले गए। उन्होंने पत्रकारों के सवाल-मुलाकात कैसी रही? पर कोई जवाब नहीं दिया। अखिलेश को गेट तक छोड़ने आए अब्दुल्ला ने भी मीडिया को मुलाकात के बारे में कुछ नहीं बताया है। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही पत्रकारों को बुलाकर बात करेंगे।