• ब्यूरो

मॉर्निंग वॉकर्स से प्रवेश शुल्क लेने का सपा, कांग्रेस ने जताया विरोध



कानपुर। नगर के सुप्रसिद्ध व आजादी की लडायी का गवाह रहे नानाराव पार्क में मॉर्निंग वाकर्स से शुल्क वसूले जाने के फैसले के विरोध में कांग्रेस व सपा के कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन किया। कहीं कांग्रेसी नेताओं ने जिलाधिकारी कार्यालय जाकर अपनी मांगों के संबंध में एक ज्ञापन एसीएम को सौंपा तो वहीं सपा विधायक अमिताभ बाजपेई के नेतृत्व में सैकड़ो मॉर्निंग वाकर्स धरने पर बैठे। आज नानराव पार्क के बाहर सुबह 7 से 10 बजे तक विरोध में हस्ताक्षर अभियान चलाया गया।


बता दें कि नगर निगम सदन की बैठक में नानराव पार्क में प्रवेश शुल्क लगाए जाने का फैसला हुआ था। जिसके खिलाफ आज सपा और कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने अपना विरोध प्रकट किया और नगर निगम के खिलाफ हस्ताक्षर अभियान चलाया। इस दौरान कांग्रेस नेताओं ने शुल्क फैसला वसूले जाने के फैसले को जनता विरोधी बताया।


कांग्रेस नगर अध्यक्ष नौशाद आलम मंसूरी ने कहा कि नानाराव पार्क साल 1857 के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के सैकड़ों वीरों की कुर्बायिों की गौरवगाथा अैर सैकड़ों अंग्रेजों को मौत के घाट उतारे जाने का साक्षी रहा है। इस पार्क में हर दिन सुबह-शाम लोग टहलने और घूमने आते हैं। नगर निगम ने एक तुगलकी फरमान जारी कर नानाराव पार्क में आने वाले मॉर्निंग व इवनिंग वॉकर्स से शुल्क वसूले जाने का फैसला लिया है। यह पूरी तरह से गलत है। इसे तत्काल प्रभाव से वापस लिया जाना चाहिए। कांग्रेस नेताओं ने चेतावनी देते हुए कहा कि अगर समाज एवं जनता विरोधी इस फैसले को वापस न लिया गया तो सड़क पर उतरकर आंदोलन किया जाएगा।


इस दौरान मदन मोहन शुक्ला, पूर्व विधायक संजीव दरियावादी, दिलीप शुक्ला, विकास अवस्थी, हरीश गुप्ता, पदम मोहन मिश्रा, दीपक मेहरोत्रा, हीरालाल निषाद, शंकर दास मिश्रा, संजय कनौजिया, जावेद, जमील उस्मानी, गौरव श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे और विरोध जताया। समाजवादी पार्टी के आर्यनगर विधायक अमिताभ बाजपेई आज नानराव पार्क में सुबह 7 बजे से धरने पर बैठें। उन्होंने कहा कि यह फैसला गलत है।


नानराव पार्क में प्रवेश पर शुल्क हर हाल में वापस करा कर ही वह शांत होंगे। खुली हवा में सांस लेने और टहलने जाने पर भाजपा सरकार को वसूली नहीं करने देंगे।कार्यकारिणी और सदन में संख्या बल के अहंकार के कारण सपा के विरोध के बाद भी यह जनविरोधी प्रस्ताव पास किया गया। इसके विरोध में आज सपा के साथ सैकड़ो लोग सड़कों पर उतर आये हैं। प्रवेश शुल्क वापस लेकर ही समाजवादी चैन से बैठेंगे।


बता दें कि सोमवार को नगर निगम कार्यकारिणी में फूलबाग स्थित नानाराव पार्क घूमने आने वालों को शुल्क देने का फैसला लिया गया था। 5 साल के उम्र तक के बच्चों को फ्री, 6 से 12 साल तक के बच्चों के लिए 5 रुपए और इससे अधिक उम्र के लोगों के लिए 10 रुपए शुल्क वसूले जाने का निर्णय हुआ था। तय हुआ था कि 01 सितंबर से शुल्क वसूला जाएगा। एक महीने का पास 250 रुपए में बनेगा। मॉर्निंग वॉकर्स को भी शुल्क देना होगा। महापौर प्रमिला पांडेय ने ये जानकारी दी थी। वहीं सपा पार्षद अभिषेक गुप्ता मोनू ने नानाराव पार्क में शुल्क लगाए जाने का विरोध किया था।