• ब्यूरो

सपा प्रवक्ता का आरोप, महात्रासदी के बीच थाईलैंड से बुलाई गई कॉलगर्ल



लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता आईपी सिंह के खुलासे के बाद मचा हड़कंप। थाईलैंड की 41 वर्षीय युवती की कोरोना से मौत के मामले में आईपी सिंह ने ट्विटर पर युवती को कॉलगर्ल बता कारोबारी व राज्यसभा सांसद संजय सेठ के बेटे पर गंभीर आरोप लगाए।


सिंह ने अपने ट्वीट में लिखा-


दुनिया भर में चल रही महात्रासदी के बीच थाईलैंड से एक कॉलगर्ल बुलाई गई, जिसकी अब कोरोना से मौत हो गई।

उन्होंने यूपी पुलिस को पोस्ट टैग करते हुए राज्यसभा सांसद के पुत्र के खिलाफ निष्पक्ष जांच कर कड़ी कार्रवाई करने की चुनौती दी।


7 लाख करें थे खर्च


खुलासे में पता चला कि सांसद संजय सेठ के बेटे ने युवती को 7 लाख रुपए खर्च करके थाईलैंड से बुलाया था। वहीं आईपी सिंह लगातार उच्चस्तरीय सीबीआई जांच की मांग कर रहें हैं।


जांच के लिए पुलिस टीम का हुआ गठन


वहीं पुलिस अब तक यह नहीं पता कर सकी कि युवती किसके बुलावे पर लखनऊ आई थी। वह कहां रुकी, किन लोगों से मिली ये सवाल भी अभी अधूरे हैं। उठते सवालों के बीच पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर ने जांच के लिए डीसीपी पूर्वी संजीव सुमन के नेतृत्व में विशेष टीम गठित कर दी है।


खबरों के अनुसार थाईलैंड की पियाथिडा 28 अप्रैल को दिल्ली होते हुए लखनऊ पहुंची थी। 30 अप्रैल को उसकी तबीयत बिगड़ने के बाद लोहिया संस्थान में भर्ती कराया गया, जहां 3 मई को उसकी मौत हो गई। अस्पताल में युवती का पता हजरतगंज का दर्ज कराया गया था।


युवती की लखनऊ में मदद करने वाले गाइड सलमान का दावा है कि उसने रायपुर के राकेश शर्मा के कहने पर ही उसकी सहायता की थी। सलमान के फोन में कई रसूखदारों के नंबर मिले हैं। वहीं सलमान का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ, जिसमें युवती से संबंधित खबरों को नकारा है। हालांकि, विभूति खंड पुलिस ने उसे पूछताछ के लिए बुलाया है।


अमिताभ ठाकुर ने भी उठाए सवाल


समाज सेविका नूतन ठाकुर व उनके पति पूर्व आईपीएस अफसर अमिताभ ठाकुर ने पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर को पत्र लिखकर युवती की मौत के बाद उसका अंतिम संस्कार कराने पर सवाल उठाया। नूतन ने एफआईआर दर्ज कर सांसद के बेटे पर लगे आरोपों की जांच की मांग की।


सांसद ने बतायी छवि धूमिल करने की साजिश


वहीं दूसरी ओर इस मामले में राज्यसभा सांसद व कारोबारी संजय सेठ ने कहा कि सोशल मीडिया पोस्ट्स में उनकी व परिवार की छवि धूमिल की जा रही है। उन्होंने पुलिस से युवती की ट्रैवेल हिस्ट्री की जांच करने की मांग की है। इसके लिए पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर को पत्र लिखा है। उन्होंने जांच रिपोर्ट भी सार्वजनिक करने की मांग की है।