• ब्यूरो

सरकार बनने पर शिक्षकों के लिए पुरानी पेंशन योजना को बहाल करेगी सपा

आउटसोर्सिंग अच्छी प्रथा नहीं, इसमें शोषण के अलावा कुछ नहीं: अखिलेश

लखनऊ, सोशल टाइम्स। समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर राज्य कर्मचारियों और शिक्षकों के लिए 2005 से पहले की पुरानी पेंशन योजना को बहाल करने का वादा किया है। यादव ने कहा कि समाजवादी पार्टी इसे अपने घोषणा पत्र में शामिल करेगी। उन्होंने कहा कि आर्थिक मंथन के बाद पुरानी पेंशन बहाल करने का फैसला किया गया है। अखिलेश यादव ने विविध क्षेत्रों में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए दिए जाने वाले यश भारती सम्मान को फिर शुरू करने और जिला स्तर पर नगर भारती सम्मान दिए जाने की घोषणा की।

गुरुवार को सपा कार्यालय पर पत्रकारों से वार्ता करते हुए अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा ने कर्मचारियों और शिक्षकों की पुरानी पेंशन को खत्म कर दिया। समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर हम इसे पुनः बहाल करेंगे। लम्बी सेवा के बाद सेवानिवृत्त होने वालों के जीवन निर्वाह के लिए पुनः पुरानी सामाजिक सुरक्षा पेंशन दिया जाना उचित है। भाजपा ने राज्य कर्मचारियों, शिक्षकों के साथ धोखा किया। पेंशन बहाली से 13.37 लाख लोग लाभाविन्त होंगे। राज्य कर्मचारियों और अटेवा संगठन की इस सम्बंध में पुरानी मांग रही है। कर्मचारियों के इलाज के लिए कैशलेस स्कीम को लागू किया जाएगा। यादव ने वित्तविहीन शिक्षकों को सम्मानजनक मानदेय देने की व्यवस्था करने का भी आश्वासन दिया। यादव ने कहा कि बीजेपी कर्मचारी विरोधी है। हर वर्ग को धोखा दिया है। भाजपा सरकार भेदभाव के साथ काम करती रही जबकि समाजवादी पार्टी की कथनी करनी में कोई अंतर नहीं है। हमने जो भी वादा किया उसको पूरा किया है। आउटसोर्सिंग को लेकर यादव ने कहा कि यह अच्छी प्रथा नहीं है, इसमें शोषण के अलावा कुछ नहीं होता है। भाजपा सरकार ने कर्मचारियों की बात नहीं सुनी। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी के घोषणा पत्र में कर्मचारियों, शिक्षकों, आंगनबाड़ी सभी की समस्याओं को शामिल करेंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में रही तो हर चीज बेच देगी। भाजपा एक दिन सरकार को भी आउटसोर्स कर देगी। समाजवादी पार्टी निजीकरण के खिलाफ है। भाजपा ने निजीकरण के जरिए संविधान और आरक्षण को नुकसान पहुंचाया।

अखिलेश ने कहा कि सपा ने अपने साथ व्यापक जनाधार वाले नेताओं और मंत्रियों को जोड़ा है। क्षेत्रीय पार्टियों से गठबंधन किया है। समाजवादी पार्टी लड़ाई जीत गई है। भाजपा हार गई है। समाजवादी पार्टी चुनाव में हर तरह से आगे हैं और हम सरकार बनाने जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमने 300 यूनिट घरेलू बिजली मुफ्त देने की घोषणा की है। घबराकर भाजपा ने बिजली का बिल आधा कर दिया। जब बिजली का बिल आधा किया जा सकता था इन्होंने जनता से दुगना बिल क्यों लिया। समाजवादी सरकार के समय 2012 से 2017 के बीच बिजली उत्पादन दुगुना हो गया था। बिजली के लिए ज्यादा बजट दिया गया था। यादव ने कहा कि समाजवादी सरकार ने लगभग 20 लाख छात्र नौजवानों को लैपटॉप दिए, जो आज भी चल रहे हैं। बीजेपी सरकार ने जो टेबलेट दिए हैं उन पर सवाल उठ रहे हैं। यादव ने कहा कि हम घोषणा पत्र में नौजवानों के लिए नौकरी और रोजगार की योजना लाएंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा साजिश और षडयंत्र करके आगे बढ़ना चाहती है। भाजपा सरकार में लाखों लोगों का रोजगार और नौकरी छिन गई। यूपी सरकार के पास किसी भी चीज का आंकड़ा नहीं है। भाजपा आंकड़ों को छुपाती है। कोरोना में कितने लोगों की जान गई सरकार के पास कोई जानकारी नहीं है। कितने लोगों की नौकरी और रोजगार गए भाजपा सरकार नहीं बता सकती। यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से कहा कि समाजवादी पार्टी के नेतृत्व में प्रोग्रेसिव सरकार बनाएं। हम जो भी वादे कर रहे हैं सब पूरे करेंगे। उन्होंने कहा कि समाजवादी पार्टी वर्चुअल रैली के साथ साथ फिजिकल कैंपेन भी कर रही हैं। हमने अपने कार्यकर्ताओं से कहा है कि वह डोर टू डोर जाकर लोगों को समाजवादी पार्टी की योजनाओं की जानकारी दें और जनता से वोट की अपील करें।