• संवाददाता

एसएसपी देहरादून ने की मासिक अपराध गोष्ठी



देहरादून। रविवार को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक दलीप सिंह कुँवर द्वारा पुलिस लाइन स्थित सभागार में जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारियों/थाना प्रभारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी ली गयी।


गोष्टि के दौरान पुलिस मुख्यालय की ओर से आए गौरव द्वारा उपस्थित समस्त अधिकारियों को उत्तराखंड पुलिस जांच के संबंध में जानकारी दी गई। गोष्ठी के दौरान महोदय द्वारा उपस्थित सभी अधिकारी/कर्मचारिगणों को निम्नलिखित आदेश निर्गत किये गये।


सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि सड़क दुर्घटनाओं के मामलों में पीड़ित पक्ष तत्काल सहायता करते हुए एम0ए0सी0टी0 क्लेम की रिपोर्ट 24 घंटे के अंदर संबंधित को प्रेषित की जाए।


सभी थाना प्रभारी माननीय न्यायालय से प्राप्त सम्मनों/ वारंटो की शत-प्रतिशत तामिली सुनिश्चित करें, मुकदमों में अभियुक्तों की गिरफ्तारी में न्यायालय द्वारा दिए गए निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाए।


थाने पर किसी पीड़ित द्वारा दिए गए प्रार्थना पत्र में उसकी तहरीर के आधार पर ही अभियोग पंजीकृत किया जाए, पर विवेचना के दौरान अभियोग का निस्तारण गुण दोष व उपलब्ध साक्ष्यों के आधार पर ही किया जाए।


सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थानों व चौकियों में, जहां भी सीसीटीवी कैमरे लगे हैं, उन्हें चेक कर ले, यदि कोई कैमरा खराब अवस्था में हो तो उसे ठीक करवा ले।


जनपद में घटित लूट, चोरी व नकबजनी की घटनाओं में तथ्य प्रकाश में आए हैं कि नशे के आदि व्यक्तियों द्वारा ही अक्सर इस प्रकार की घटनाओ को अंजाम दिया जाता है, इसलिए सभी थाना प्रभारी अपने अपने थाना क्षेत्र में लूट व चोरी की घटनाओं में जेल गए इस प्रकार के आदतन अपराधियों का प्रोफाइल तैयार कर आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।


सभी थाना प्रभारियों को पूर्व में ही नशीले पदार्थों की तस्करी में लिप्त व्यक्तियों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए गए थे, परंतु थाना प्रभारियों द्वारा अपेक्षानुरूप कार्रवाई नहीं की जा रही है।


सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्रों में निवासरत बाहरी व्यक्तियों के सत्यापन के लिए प्रतिदिन टीमें भेजकर वेरिफिकेशन की कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।


भूमि विवाद/ धोखाधड़ी से संबंधित शिकायतों पर शासन द्वारा बनाई गई लैंड फ्रॉड कमेटी द्वारा दिए गए निर्देशों के अनुसार ही आवश्यक कार्रवाई करना सुनिश्चित करें, भूमि संबंधित मामलों में प्रीवेंटिव की कार्रवाई आवश्यक तौर पर की जाए।


सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया गया कि एससी- एसटी एक्ट, पोस्को एक्ट व अन्य अभियोगों में, जिनमें समय सीमा निर्धारित की गई है, उनका निर्धारित समय सीमा के भीतर विधिक निस्तारण सुनिश्चित किया जाए।


निरोधात्मक कार्यवाहियो की समीक्षा के दौरान महोदय द्वारा सभी थाना प्रभारियों को अधिक से अधिक निरोधात्मक कार्रवाई करने तथा भूमि संबंधित व अन्य विवादों मैं दोनों पक्षों को भारी मुचलको से पाबंद करने के निर्देश दिए गए।


सभी थाना प्रभारी मैनुअली पुलिसिंग पर ध्यान देते हुए बीट पुलिसिंग को एक्टिव करें।


इस दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक द्वारा माह जून में उत्कृष्ट कार्य करने वाले निम्न अधिकारी/ कर्मचारिगणों को प्रशस्ति पत्र व नगद पुरस्कार देकर सम्मानित भी किया गया।