• संवाददाता

एसएसपी देहरादून ने किया मासिक अपराध गोष्ठी का आयोजन




देहरादून। गुरुवार को पुलिस लाइन में एसएसपी द्वारा जनपद के सभी अधिकारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी आयोजित की गयी।


मासिक अपराध गोष्ठी के दौरान एसएसपी द्वारा सभी थाना प्रभारियों को निर्देशित किया कि किसी भी पीड़ित व्यक्ति द्वारा थाने पर दिए गए प्रार्थना पत्र पर तत्काल कार्रवाई की जाए तथा जिन मामलों में अभियोग पंजीकृत किया जाना आवश्यक हो, उनमें तत्काल अभियोग पंजीकृत करते हुए आवश्यक वैधानिक कार्यवाई अमल में लाई जाए, परंतु ऐसे अभियोग जिनमे अभियुक्त की गिरफ्तारी आवश्यक है, उसमें जरूरी साक्ष्य संकलन के उपरांत ही अभियुक्त की गिरफ्तारी की जाए।


एसएसपी ने सभी थाना प्रभारी अपने-अपने थाना क्षेत्र में माननीय उच्चतम न्यायालय की गाइडलाइन के अनुरूप ही लाउडस्पीकर तथा डीजे के इस्तेमाल को नियंत्रित करने तथा निर्धारित समयावधि के उपरांत सार्वजनिक स्थानों पर डीजे अथवा लाउडस्पीकर का इस्तेमाल ना होने देने के निर्देश दिए गये।


उन्होंने बाहरी एवं संदिग्ध व्यक्तियों के सत्यापन हेतु जनपद में चलाए जा रहे अभियान की समीक्षा के दौरान महोदय द्वारा सभी थाना प्रभारियों को अभियान में और अधिक तेजी लाने तथा किसी भी संदिग्ध व्यक्ति के मिलने पर उसके विरुद्ध आवश्यक वैधानिक कार्यवाही करने के निर्देश दिए गए। साथ ही सभी थाना प्रभारियों को अपने अपने थाना क्षेत्रों में सक्रिय/वांछित अपराधियों की गिरफ्तारी हेतु निर्देशित किया।


उन्होंने सभी थाना प्रभारियों/यातायात निरीक्षक/सीपीयू प्रभारी को बिना नम्बर वाले व सभी संदिग्ध वाहनों भली भातिं चैक किये जाने हेतु निर्देशित किया गया।


एसएसपी ने लंबित विवेचनाओं की समीक्षा के दौरान महोदय द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर/ग्रामीण को अपने निकट पर्यवेक्षण में सभी थाना प्रभारियों सेे लम्बित विवेचनाओं का त्वरित निस्तारण सुनिश्चित करवाने हेतु निर्देशित किया।


उन्होंने वर्तमान में मालो के निस्तारण हेतु जनपद में चलाए जा रहे अभियान की समीक्षा के दौरान महोदय द्वारा पुलिस अधीक्षक नगर/ग्रामीण को अपने निकट पर्यवेक्षण में सभी थाना प्रभारियों को लंबित मालो व लावारिस वाहनों के निस्तारण में तेजी लाने तथा अभियान के दौरान अधिक से अधिक मालो व लावारिस वाहनों का निस्तारण करने तथा लावारिस वाहनों की नियमानुसार नीलामी कर उससे प्राप्त धनराशि को कोषागार में जमा कराये जाने के निर्देश दिए गए।


उन्होंने सभी पुलिस अधिकारियों/कर्मचारियों को संयमित रहते हुए पूरे अनुशासन के साथ अपनी ड्यूटी का निर्वहन करने तथा किसी भी दशा में आम जनमानस के साथ दुर्व्यवहार नहीं करने तथा बिना अनुमति किसी भी कर्मचारी को अपनी ड्यूटी स्थल से गैर जनपद/गैर राज्य नहीं जाने हेतु निर्देशित किया।


एसएसपी ने विभागीय जांचों की समीक्षा के दौरान महोदय द्वारा सभी राजपत्रित अधिकारियों को निर्देशित किया कि वह निर्धारित समय अवधि में प्रारंभिक जांचों का निस्तारण करना सुनिश्चित करें तथा समय-समय पर ओ0आर0 लेते रहें।


उन्होंने अच्छा कार्य करने वाले कर्मचारिगणों के नाम रिवार्ड के लिये भेजे जाने हेतु निर्देशित किया गया।


क्राइम मीटिंग के दौरान प्रदीप चौहान, विनोद कुमार, अमित राणा, नीरज कुमार और प्रवीण सिंधु को माह मई में उनके द्वारा किये गये उत्कृष्ठ कार्यों के लिये पुलिस मैन ऑफ द मंथ के पुरूस्कार से पुरूस्कृत किया गया।