• संवाददाता

देहरादून: एसएसपी ने किया मासिक अपराध गोष्ठी




देहरादून। 31 जुलाई की रात्रि दलीप सिंह कुँवर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, देहरादून द्वारा पुलिस लाइन स्थित सभागार में जनपद के समस्त राजपत्रित अधिकारियों/थाना प्रभारियों के साथ मासिक अपराध गोष्ठी ली गयी।


गोष्ठी के दौरान उनके द्वारा उपस्थित सभी अधिकारी/कर्मचारिगणों को निम्नलिखित आदेश निर्गत किये गये।


उन्होंने कहा कि सभी थाना प्रभारी सी0एम0 पोर्टल पर प्राप्त होने वाले सभी शिकायती प्रार्थना पत्रों का स्वयं पर्यवेक्षण करते हुए उनका समयबद्ध निस्तारण करना सुनिश्चित करें।


अपने अधीनस्थ नियुक्त पुलिसकर्मियों से समय-समय पर उनकी व्यक्तिगत समस्याओं के सम्बन्ध में जानकारी लेते हुए उसका निस्तारण करना सुनिश्चित करें। छुट्टियों के लिये अनावश्यक रूप से किसी कर्मचारी को परेशान न किया जाये।


एसएसपी ने कहा कि थाना/चौकियो में अनुशासन बनाये रखने की जिम्मेदारी सम्बन्धित थाना/चौकी प्रभारी की होगी। जनमानस के साथ अपना आचरण संयमित रखें, इस बात का विशेष ध्यान दिया जाये कि किसी भी पुलिस कर्मी के खराब आचरण के कारण कानून व्यवस्था प्रभावित न हो, इसका सम्पूर्ण उत्तरदायित्व सम्बन्धित थाना प्रभारी का होगा।


किसी भी घटना की सूचना मिलने पर सम्बन्धित थाना /चौकी प्रभारी तत्काल मौके पर जाए, इस दौरान रिस्पांस टाइम का विशेष ध्यान रखा जाए, किसी भी दशा में रिस्पांस टाइम 30 मिनट से अधिक न हो, मौके पर पंहुच कर घटना की वीडियो रिकॉर्डिंग अवश्य की जाए। सांप्रदायिक मामलों से संबंधित किसी भी सूचना पर संबंधित थाना प्रभारी स्वंय मौके पर जायेंगे।

एसएसपी ने आदेशित किया कि थाना /चौकी से रवाना होने वाली प्रत्येक डयूटी में नियुक्त कर्मचारियों को डयूटी से पूर्व अच्छी तरह से ब्रीफ किया जाए तथा वापसी में उनसे उनके द्वारा किये गये कार्यो का फीडबैक अवश्य लिया जाए।


उन्होंने कहा कि रात्रि डयूटी में नियुक्त अधि0/ कर्म0 रात्रि के समय अनावश्यक रूप से घूमने वाले लोगों को थाने लाकर उनसे आवश्यक पूछताछ कर उनके सत्यापन की कार्यवाही करे , सभी थाना प्रभारी इस बात को सुनिश्चित करे कि रात्रि के समय कोई भी असमाजक तत्व शराब पीकर सार्वजनिक स्थान पर किसी प्रकार का हुडदंग न करने पाये। साथ ही रात्रि डयूटी में नियुक्त अधि0/ कर्म0 प्रातः काल लोगों का आवगमन शुरू होने तक अपने डयूटी प्वांइट को न छोड़े। आकस्मिक चैकिंग के दौरान रात्रि के समय यदि कोई अधि0/ कर्म0 अपने कर्तव्यों का सही प्रकार से निर्वहन न करते हुए पाया जाता है तो उसका दायित्व निर्धारित करते हुए उसके विरुद्ध आवश्यक कार्यवाही की जाएगी।