• संवाददाता

एसटीएफ ने दो करोड़ की स्मैक के साथ एक अभियुक्त को किया गिरफ्तार



लखनऊ। एसटीएफ ने कृष्णानगर के लोकबंधु अस्पताल के पास से दो करोड़ की स्मैक के साथ एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया। पुलिस ने अभियुक्त के पास से 2 किलो स्मैक बरामद की जिसकी बाजार में कीमत करीब दो करोड़ रुपये हैं। एसटीएफ के मुताबिक इस गिरोह का नेटवर्क राजस्थान से बाराबंकी तक नेटवर्क फैला है। पुलिस इस गिरोह के अन्य सदस्यों की तलाश कर रही है।


एसटीएफ के डिप्टी एसपी अमित नागर की टीम को सूचना मिली की राजस्थान और बाराबंकी के बीच स्मैक तस्करी का कारोबार तेजी से बढ़ रहा है। इसकी जानकारी होने पर टीम ने नेटवर्क खंगालना शुरू किया। पुलिस ने बृहस्पतिवार दोपहर को कृष्णानगर इलाके के लोकबंधु अस्पताल के सामने से एक लग्जरी कार सवार युवक को दबोच लिया। उसके कार से दो करोड़ रुपये का स्मैक बरामद किया। पकड़ा गया सलमान बाराबंकी के सफदरगंज थाने के पल्हरी का रहने वाला है। वह बाराबंकी में एक गिरोह चलाता है। जिसमें करीब 7 सदस्य प्रमुख है। वह गिरोह का सरगना है।


राजस्थान के झालावाड़ से स्मैक तस्करी कर बरेली, लखनऊ के रास्ते से बाराबंकी ले जाते थे। झालावाड़ में उसने शर्मा नाम के एक व्यक्ति से स्मैक लिया। पूछताछ में सलमान ने बताया कि कर्फ्यू के दौरान स्मैक की खपत ज्यादा है। वह पंचायत चुनाव में करीब 20 लाख रुपये गवां चुका है। इसकी भरपाई करने के लिए दो किलो स्मैक बेचने के लिए लाया था। उसके गिरोह में बाराबंकी के जैतपुर निवासी शादाब, रसौली का मो. जमाल, पल्हरी का मो. गुलाम रसूल, भनौली जैतपुर का सज्जन प्रमुख हैं। पुलिस टीम गिरोह के इन सदस्यों की तलाश कर रही है।